Live Hindustan आपको पुश नोटिफिकेशन भेजना शुरू करना चाहता है। कृपया, Allow करें।

पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू और गोल, सुनील छेत्री के करियर की कुछ सुनहरी यादें

Sunil Chhetri Farewell: सुनील छेत्री ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल लिया है। कोलकाता के साल्ट लेक स्टेडियम में जब गुरुवार को सुनील मैदान में उतरे तो उनके नाम से स्टेडियम गूंज रहा था।

offline
पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू और गोल, सुनील छेत्री के करियर की कुछ सुनहरी यादें
ani-20240606169-0 jpg
Deepak लाइव हिन्दुस्तान , नई दिल्ली
Thu, 6 Jun 2024 11:11 PM
अगला लेख

Sunil Chhetri Farewell: सुनील छेत्री ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल लिया है। कोलकाता के साल्ट लेक स्टेडियम में जब सुनील मैदान में उतरे तो उनके नाम से स्टेडियम गूंज रहा था। भारतीय फुटबॉल के साथ सुनील छेत्री का सफर शुरू हुआ था साल 2005 में। तब उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू किया था। इस मैच में सुनील छेत्री ने गोल भी किया था। तब से लेकर आखिरी मैच तक सुनील छेत्री की यात्रा कई खट्टी-मीठी यादों से भरी रही है। पहले मैच में गोल से शुरुआत करने वाले सुनील छेत्री आखिरी मैच में वह कारनामा दोहरा नहीं सके। इसके बावजूद भारतीय फुटबॉल जगत में उनका सफर शानदार रहा है। एक नजर सुनील छेत्री के कॅरियर के कुछ गोल्डन मोमेंट्स पर...

हैट्रिक भी जमाई
सुनील छेत्री ने अपना डेब्यू किया साल 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ। 12 जून को क्वेटा में खेला गया वह मुकाबला 1-1 से ड्रॉ छूटा था। छेत्री ने उस मैच में गोल किया था। साल 2007 में भारतीय फुटबॉल टीम ने सीरिया के खिलाफ नेहरू कप के मैच में जीत हासिल की। साल 2008 में उन्होंने ताजिकिस्तान के खिलाफ एएफसी चैलेंज कप के फाइनल में हैट्रिक जमाई थी। इसी साल भारतीय फुटबॉल टीम ने चैलेंज कप जीता था और एएफसी एशियन कप के लिए क्वॉलीफाई किया था। साल 2011 में सुनील छेत्री ने दो बार स्कोर किया था। साल 2012 में भारतीय टीम ने सुनील छेत्री की ही मौजूदगी में नेहरू कप जीता था। उसने फाइनल में कैमरून को हराया था।

13 मैचों तक रखा भारतीय फुटबॉल टीम को अजेय
साल 2017 में सुनील छेत्री ने भारत की कप्तानी करते हुए 13 मैचों तक टीम को अजेय रखा था। इसी साल भारतीय टीम ने एशिया कप के लिए भी क्वॉलीफाई किया था। अगले ही साल यानी 2018 में सुनील छेत्री ने हैट्रिक जमाई थी। उन्होंने यह कारनामा इंटरकांटिनेंटल कप में चीनी ताइपे के खिलाफ अंजाम दिया था। इसी साल स्टार भारतीय फुटबॉलर ने केन्या के खिलाफ अपना 100वां मैच खेला था। 2018 में ही छेत्री ने लियोनेल मेसी के 64 गोल के रिकॉर्ड की बराबरी की थी। 2019 में एशियन कप में थाइलैंड के खिलाफ दो बार गोल किया था।

मेसी, रोनाल्डो के बाद नाम
साल 2021 में छेत्री ने एक और रिकॉर्ड बनाया। वह संयुक्त रूप से छठवें हाइएस्ट गोल स्कोरर ऑफ ऑल टाइम बन गए। इसी साल उन्होंने मेसी के 80 गोलों की टैली की बराबरी की। साल 2022 में भारतीय फुटबॉल टीम ने एशियन कप के लिए क्वॉलीफाई किया। इसी साल सुनील छेत्री सेकंड हाइएस्ट एशियन गोल स्कोरर ऑफ ऑल टाइम बने। 2023 तक छेत्री मेसी और रोनाल्डो के बाद तीसरे हाइएस्ट इंटरनेशनल गोल स्कोरर बने हुए हैं।

हमें फॉलो करें
ऐप पर पढ़ें

खेल की अगली ख़बर पढ़ें
Sunil Chhetri Footbal Indian Football Team
होमफोटोशॉर्ट वीडियोफटाफट खबरेंएजुकेशनट्रेंडिंग ख़बरें