DA Image
हिंदी न्यूज़ › खेल › टोक्यो से वापस भारत लौटने पर पीवी सिंधु और उनके कोच को अनुराग ठाकुर सहित कई केंद्रीय मंत्रियों ने किया सम्मानित
खेल

टोक्यो से वापस भारत लौटने पर पीवी सिंधु और उनके कोच को अनुराग ठाकुर सहित कई केंद्रीय मंत्रियों ने किया सम्मानित

एएनआई,नई दिल्लीPublished By: Mohan Kumar
Tue, 03 Aug 2021 07:51 PM
टोक्यो से वापस भारत लौटने पर पीवी सिंधु और उनके कोच को अनुराग ठाकुर सहित कई केंद्रीय मंत्रियों ने किया सम्मानित

टोक्यो ओलंपिक खेलों में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रचने वाली बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु वापस भारत लौट आई हैं। उनका दिल्‍ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर भव्‍य स्‍वागत किया गया, जहां बड़ी संख्‍या में फैन्‍स उनका वेलकम करने के लिए इकट्ठे हो रखे थे। भारत पहुंचने पर उनके लिए केंद्र सरकार की तरफ से एक कार्यक्रम भी रखा गया, जहां उन्हें और उनके विदेशी कोच पार्क ताइ सांग को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और जी किशन रेड्डी ने सम्मानित किया।

 

इस मौके पर वित्त मंत्री ने कहा, यह स्पष्ट रूप से उनके अथक प्रयास, कड़ी मेहनत और दृढ़ता का प्रतीक है। यह उनके परिवार, उनके कोच और फिजियो का भी समर्थन था। उन्होंने बार-बार खुद को साबित किया है, पहले रियो में और अब टोक्यो ओलंपिक में। 

इस मौके पर अनुराग ठाकुर ने कहा कि, 'आप एक युवा आइकॉन और प्रेरणा हैं। आप भारत के महानतम ओलंपियनों में से एक हैं। आपने हम सभी को गौरवान्वित किया है और 135 करोड़ भारतीय चेहरों पर मुस्कान लाई है।'

Tokyo Olympics 2020: मेंस हॉकी में सुनहरा सपना टूटा, लेकिन पदक की उम्मीद कायम, एथलेटिक्स में खराब प्रदर्शन

इससे पहले एयरपोर्ट पर सिंधु का स्वागत करने के लिए भारतीय बैडमिंटन महासंघ (बाई) के महा सचिव अजय सिंघानिया और फेडेरशन के अन्य अधिकारी तथा भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के अधिकारी मौजूद थे। बाई ने सरकार, खेल मंत्रालय और साई को उसके प्रयासों और समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। सिंधु को परिवार के लोगों और सुरक्षाकर्मियों के घेरे के बीच एयरपोर्ट से बाहर निकाला गया।

इतिहास रचकर भारत लौटीं पीवी सिंधु, दिल्ली एयरपोर्ट पर ढोल-नगाड़ों के साथ हुआ जोरदार स्वागत- देखें VIDEO

एयरपोर्ट पर मौजूद लोगों ने तालियां बजाकर ओलम्पिक पदक विजेता का स्वागत किया। इस मौके पर सिंधु ने कहा कि, 'मैं बहुत खुश हूं। मेरे लिए यह बड़े गर्व का दिन था। थकावट जैसी कोई बात नहीं है, मेरे लिए यह रोमांच से भरा दिन रहा। मैं सिंघानिया सर और मुझे समर्थन करने वाले लोगों का धन्यवाद करती हूं।'

संबंधित खबरें