फोटो गैलरी

Hindi News खेलबृजभूषण शरण सिंह ने फिर किया महिला पहलवानों का जिक्र, साक्षी मलिक बोलीं- इतना बौखलाना ठीक नहीं

बृजभूषण शरण सिंह ने फिर किया महिला पहलवानों का जिक्र, साक्षी मलिक बोलीं- इतना बौखलाना ठीक नहीं

बृजभूषण शरण सिंह ने एक बार फिर से महिला पहलवानों द्वारा उनके ऊपर लगाए गए आरोपों का जिक्र किया। इस पर साक्षी मलिक तिलमिला उठीं और उन्होंने कहा है कि इतना बौखलाना ठीक नहीं है। 

बृजभूषण शरण सिंह ने फिर किया महिला पहलवानों का जिक्र, साक्षी मलिक बोलीं- इतना बौखलाना ठीक नहीं
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 30 Nov 2023 10:36 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय कुश्ती महासंघ के चेयरमैन और भाजपा सासंद बृजभूषण शरण सिंह एक बार फिर अपने इंटरव्यू को लेकर सुर्खियों में हैं। बृजभूषण शरण सिंह ने फिर से महिला पहलवानों द्वारा लगाए गए आरोपों पर बात की। उन्होंने कहा है कि जिन खिलाड़ियों ने उनके ऊपर झूठे आरोप लगाए हैं, आज उनको कोई पूछने वाला नहीं है। इस पर दिग्गज महिला पहलवान साक्षी मलिक ने रिएक्ट किया है और कहा है इतना बौखलाना ठीक नहीं।   

गोंडा पोस्ट को दिए इंटरव्यू में बृजभूषण सिंह ने कहा, "जिन पहलवानों ने मेरे ऊपर आरोप लगाए, उनकी आज हरियाणा में कोई इज्जत नहीं है। उनको कोई पूछने वाला नहीं है। जाते थे उनकी 5 लाख रुपये से विदाई होती थी, लेकिन आज किसी कार्यक्रम में बुलाए नहीं जाते हैं। हमारी इज्जत नहीं घटी, बल्कि उनकी घट गई है। हमको तो हरियाणा से भी बुलावा आता है और जाते भी हैं। मैंने इसका सामना किया है।"

रोहित शर्मा और विराट कोहली क्यों नहीं हैं T20I और ODI टीम का हिस्सा, BCCI ने बताया कारण

साक्षी मलिक ने इसके जवाब में लिखा, "इस देश का दुर्भाग्य यह है कि सत्ता ऐसे लोगों के हाथ में है, जो सेक्सुअल हरसमेंट की सर्वाइवर्स का खुलेआम ऐसे मजाक उड़ा रहे हैं। यह ऐसे अपना गुणगान कर रहा है, जैसे स्वतंत्रता सेनानी हो। हरियाणा में जनता के बीच गये तो जनता अपने आप जवाब दे देगी। एकबार ऐलान करके लोगों के बीच में आओ तो सही। खैर, जेल जाने से पहले इतना बौखलाना नहीं चाहिए बृजभूषण सिंह।"

बता दें कि साक्षी मलिक ने बृजभूषण सिंह पर लगे तमाम संगीन आरोपों का पुरजोर तरीके से समर्थन किया है। वे धरना प्रदर्शन में भी शामिल रही हैं। वहीं, इन आरोपों के बावजूद बृजभूषण शरण सिंह ने अपने पद से इस्तीफा नहीं दिया है। वे हर बार इस बात को दोहराते हैं कि मामला न्यायालय करेगा कि कौन कसूरवार है और कौन सही। हालांकि, इस पर राजनीति भी खूब हुई है, जिसे तमाम संगठनों ने भुनाने की कोशिश की है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें