फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ खेलDiamond League Finals: नीरज की नजरें एक और इतिहास रचने पर, डाइमंड लीग फाइनल्स में प्रबल दावेदार के रूप में उतरेंगे

Diamond League Finals: नीरज की नजरें एक और इतिहास रचने पर, डाइमंड लीग फाइनल्स में प्रबल दावेदार के रूप में उतरेंगे

चोपड़ा ने चोट के कारण एक महीने तक बाहर रहने के बाद डाइमंड लीग सीरीज का लुसाने चरण जीतकर यहां दो दिवसीय फाइनल्स के लिए क्वालीफाई किया। वह लुसाने में डाइमंड लीग का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बने थे। 

Diamond League Finals: नीरज की नजरें एक और इतिहास रचने पर, डाइमंड लीग फाइनल्स में प्रबल दावेदार के रूप में उतरेंगे
Ezaz Ahmadभाषा,नई दिल्लीWed, 07 Sep 2022 06:56 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

ओलंपिक चैंपियन भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की नजरें एक बार फिर इतिहास रचने पर हैं और वह गुरुवार को यहां प्रतिष्ठित डाइमंड लीग फाइनल्स में खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेंगे। चोपड़ा ने चोट के कारण एक महीने तक बाहर रहने के बाद जोरदार वापसी करते हुए डाइमंड लीग सीरीज का लुसाने चरण जीतकर यहां दो दिवसीय फाइनल्स के लिए क्वालीफाई किया। वह लुसाने में डाइमंड लीग का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बने थे। जुलाई में संयुक्त राज्य अमेरिका में विश्व चैंपियनशिप में रजत जीतने के दौरान उनकी ग्रोइन में मामूली चोट लगी थी जिसके कारण वह बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों (28 जुलाई से आठ अगस्त) में हिस्सा नहीं ले पाए थे। 

BWF रैंकिंग: भारत की अनुपमा उपाध्याय बनीं जूनियर वर्ल्ड नंबर वन 

चौबीस वर्षीय भारतीय सुपरस्टार ने वापसी के तुरंत बाद फॉर्म हासिल करते हुए 26 जुलाई को लुसाने में अपने पहले ही प्रयास में भाले को 89.08 मीटर तक फेंककर खिताब अपने नाम किया था। उन पर चोट का कोई असर नहीं दिख रहा था और उन्होंने अपने करियर का तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया। हरियाणा में पानीपत के पास खंडरा गांव के इस युवा खिलाड़ी की नजरें अब अपने पहले डाइमंड लीग फाइनल्स खिताब पर होंगी। उन्होंने 2017 और 2018 में भी फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था और क्रमशः सातवें और चौथे स्थान पर रहे। फाइनल के विजेता को 'डाइमंड लीग चैंपियन' का ताज पहनाया जाता है। 

राफेल नडाल हुए US Open 2022 से बाहर, फ्रांसेस टियाफो ने बनाई क्वार्टर फाइनल में जगह

यहां छह सदस्यीय फाइनल्स में विश्व चैंपियन ग्रेनेडा के एंडरसन पीटर्स नहीं होंगे जो पिछले महीने अपने देश में एक नाव के अंदर हमले के बाद चोटों से उबर रहे हैं। चोपड़ा के सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वी चेक गणराज्य के ओलंपिक रजत पदक विजेता याकुब वाडलेज होंगे जिन्हें भारतीय खिलाड़ी ने लुसाने में भी पछाड़ा था। इस सत्र में 90 मीटर से अधिक थ्रो करने वाले वाडलेज ने लुसाने में 85.88 मीटर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। उन्होंने ज्यूरिख फाइनल्स में सर्वाधिक 27 अंक के साथ जगह बनाई जबकि चोपड़ा ने 15 अंकों के साथ चौथे स्थान पर क्वालीफाई किया। डाइमंड लीग तालिका में शीर्ष छह खिलाड़ियों ने ज्यूरिख फाइनल्स में क्वालीफाई किया।