आंवला news in hindi, आंवला से जुड़ी खबरें, Breaking News, page1 DA Image

अगली स्टोरी

  • माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

आंवला एक ऐसा फल है, जो शरीर के हर अंग को फायदा पहुंचाता है। पर इन फायदों के लिए नियमित रूप से आंवले का सेवन जरूरी है। आंवले के नियमित सेवन से क्या-क्या होंगे फायदे, बता रही हैं चयनिका निगम। मुरब्बा बोलते ही जो एक नाम मुंह में आता है, वो है आंवला। वही आंवला, जो सिर्फ स्वाद नहीं, बल्कि सेहत से भी भरपूर होता है। इसमें मौजूद विटामिन- सी रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ा देता है, जिससे वैसे भी कोई शारीरिक परेशानी नहीं होती है। पर अफसोस की बात यह है कि अधिकांश लोग नियमित रूप से आंवले का सेवन नहीं करते हैं, जबकि सेहतमंद रहने की चाहत है तो आंवला आपकी थाली में जरूर शामिल होना चाहिए। यकीन मानिए, ये सिर से लेकर पांव तक आपको हर बीमारी से बचाएगा।

आयुर्वेद में कहा गया है कि हम जो भी चीजें खाते हैं, उनमें 6 में एक स्वाद जरूर होना चाहिए। यह हैं मीठा, नमकीन, खट्टा, कड़वा, तीखा और कसैला। पिछले 20 साल से आयुर्वेदिक रिसर्च और हेल्थकेयर प्रोडक्ट के क्षेत्र में काम कर रहे कैराली आयुर्वेदिक ग्रुप के डॉक्टर राहुल डोगरा का कहना है कि आयुर्वेद में कहा जाता है सही भोजन शरीर को डिटॉक्स करता है, ऊर्जावान बनाता है और विचारों में सात्विकता को बढ़ाता है। इससे प्रतिरोधकत क्षमता बढ़ती है और शारीरिक व मानसिक ताकत में इजाफा होता है और डाइजेशन बेहतर होता है। आइए जानते हैं इनके बारे में

आंवला के बारे में कहा जाता है विटामिन सी का सबसे अच्‍छा स्रोत है। अब सवाल यह उठता है कि इसे खाया कैसे जाए। यह स्‍वाद में खट्टा और कसैला होता है। तो आपको बता दें कि यह हर रूप में शरीर के लिए फायदेमंद है। कई पोषण विशेषज्ञों का कहना है कि एक आंवले में दो संतरे जितना विटामिन सी होता है। इसमें पॉलीफेनॉल्‍स, आयरन, जिंक, कैरोटीन और फाइबर प्रचुर मात्रा में होते हैं। आंवले में विटमिन बी कॉम्प्लेक्स, कैल्शियम, ऐंटिऑक्सिडेंट्स भी होते हैं जो दिमाग की कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाते हैं। इसमें मौजूद नियोपाइनफ्राइन नामक तत्व मूड से जुड़ी क्रियाओं को नियंत्रित रखता है। आइए जानते हैं इसके अन्य गुणों के बारे में

माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

चुटकुले

आलसी की मेडिकल टर्म

बबलू ने कहा: मेरा घर के किसी काम को करने का मन नहीं करता चाहे वो जितना जरुरी हो। मुझे बताएं समस्या क्‍या है। 

डॉक्टर ने कहा: आप आलसी हैं। 

बबलू ने कहा: अब इसी को मेडिकल टर्म में बताइए, ताकि मैं इसे अपनी बीवी को बता सकूं।