DA Image

अगली स्टोरी

  • 1
  • of
  • 456

माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

  • 1
  • of
  • 456

माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

  • 1
  • of
  • 456

हमारे मार्क्स देखकर टीचर की हालत

आजकल के बच्चे कम नंबर लाने पर जान देने के बारे में सोचने लगते हैं.... 



एक हमारा टाइम था। जब हमारे नंबर देखकर मास्टरसाहब की इच्छा जान देने की होती थी।