ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानकांग्रेस ने राहुल गांधी को अमेठी से क्यों नहीं उतारा? अशोक गहलोत ने कर दिया साफ

कांग्रेस ने राहुल गांधी को अमेठी से क्यों नहीं उतारा? अशोक गहलोत ने कर दिया साफ

बीते दिनों कांग्रेस ने राहुल गांधी को रायबरेली से चुनावी मैदान में उतारा। कांग्रेस के इस फैसले को चौंकाने वाला माना जा रहा था। हालांकि, कांग्रेस नेता ने इस मामले को क्लियर कर दिया है।

कांग्रेस ने राहुल गांधी को अमेठी से क्यों नहीं उतारा? अशोक गहलोत ने कर दिया साफ
Mohammad Azamपीटीआई,जयपुरMon, 13 May 2024 07:09 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती थी। 2019 के लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की स्मृति इरानी ने उन्हें मात दे दी थी। साल 2024 का लोकसभा चुनाव आने के बाद अमेठी की सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। ऐसा माना जा रहा था कि राहुल गांधी अमेठी लोकसभा सीट से एक बार फिर से चुनाव लड़ेंगे। हालांकि, कांग्रेस ने सबको चौंकाते हुए राहुल गांधी को टिकट ना देकर कांग्रेस नेता किशोरी लाल शर्मा को अमेठी के रण में उतार दिया। इस मामले पर अब राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और अमेठी के साथ ही रायबरेली सीट के लिए कांग्रेस पर्यवेक्षक अशोक गहलोत का बयान सामने आया है। आइये जानते हैं गहलोत ने क्या कहा है।

कांग्रेस ने राहुल गांधी को अमेठी की जगह रायबरेली से मैदान में उतारा है। कांग्रेस के इस फैसले को लेकर चर्चा का बाजार गरम था कि आखिर पार्टी ने ऐसा फैसला क्यों लिया? इस मामले पर राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि पार्टी ने यह फैसला रणनीति के तहत लिया है। गहलोत का कहना है कि भाजपा की स्मृति ईरानी को केएल शर्मा ही हरा सकते हैं तो राहुल गांधी जैसे राष्ट्रीय नेता को मैदान में उतारने की क्या जरूरत है। अमेठी और रायबरेली लोकसभा सीट के लिए पर्यवेक्षक बनाकर भेजे गए अशोक गहलोत ने दावा किया कि कांग्रेस दोनों सीटें बड़े अंतर से जीत रही है।

अमेठी लोकसभा सीट पर कांग्रेस 1999 से लगातार जीतती आ रही थी, लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा की स्मृति ईरानी ने इस पर ब्रेक लगा दिया। स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को लगभग 55 हजार वोटों के अंतर से हरा दिया। ऐसा माना जा रहा था कि 2024 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस राहुल गांधी को एकबार फिर से अमेठी के चुनावी मैदान में उतारेगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। कांग्रेस ने राहुल को अमेठी की जगह रायबरेली से टिकट दे दिया।