ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानWeather Update : आज अलवर, भरतपुर, दौसा और धौलपुर में ओलावृष्टि का अलर्ट

Weather Update : आज अलवर, भरतपुर, दौसा और धौलपुर में ओलावृष्टि का अलर्ट

राजस्थान में मौसम ने फिर पलटी मारी है। मौसम केंद्र जयपुर के अनुसार मंगलवार को अलवर, भरतपुर, दौसा और धौलपुर में ओलावृष्टि की संभावना है आज आसमान में बादल छाए हुए है। बारिश के आसार है।

Weather Update : आज अलवर, भरतपुर, दौसा और धौलपुर में ओलावृष्टि का अलर्ट
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरTue, 20 Feb 2024 07:43 AM
ऐप पर पढ़ें

weather update : राजस्थान में मौसम लगातार करवट बदल रहा है। फरवरी माह के तीसरे सप्ताह की समाप्ति पर राजस्थान में कहीं कहीं मौसम शुष्क हो गया है तो कहीं अभी भी ठंड का असर जारी है।मौसम केंद्र जयपुर के अनुसार मंगलवार को अलवर, भरतपुर, दौसा और धौलपुर में ओलावृष्टि की संभावना है मौसम केंद्र निदेशक राधेश्याम शर्मा के अनुसार एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से सोमवार को पाकिस्तान क्षेत्र के ऊपर एक प्रेरित परिसंचरण तंत्र बना है। इसके प्रभाव से बारिश और ओलावृष्टि की गतिविधियों की संभावना बनी है। राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ का असर शुरू हो गया है। मौसम विभाग ने इसका अलर्ट जारी कर दिया है। 

40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चली

सोमवार को कई जिलों में 30 से 40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चली और हल्की बूंदाबांदी हुुई। इससे शाम को तापमान में हल्की गिरावट दर्ज की गई। मौसम केंद्र जयपुर के अनुसार मंगलवार को अलवर, भरतपुर, दौसा और धौलपुर में ओलावृष्टि की संभावना है। 21 फरवरी को राज्य के अधिकांश भागों में मौसम शुष्क रहने और भरतपुर संभाग में हल्की बारिश की संभावना है। इसके बाद चार दिन मौसम शुष्क रहेगा।

जयपुर में 32 डिग्री पर पहुंचा दिन का तापमान

राजस्थान की राजधानी जयपुर में सर्दी का अहसास कम हो गया है। दिन और रात के पारे में उछाल से सोमवार को गर्मी का असर रहा। धूल भरी आंधियां चलने से राहगीर परेशान रहे। मौसम केंद्र के अनुसार राजधानी में दिन का अधिकतम तापमान 32 डिग्री पर आ गया। वहीं, रात का न्यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इधर, सोमवार को दिनभर तेज धूप के बाद शाम को आंधी चली। मौसम केंद्र जयपुर ने मंगलवार को जयपुर में हल्की बारिश की संभावना जताई है। दूसरी तरफ बाड़मेर में अचानक मौसम पलटा। रेगिस्तान में रेत उड़ने से जिन घरों में शादियां है वहां टेण्ट वालों के लिए शामियाने संभालना मुश्किल हो गया है। सोमवार को तेज झोंकों की वजह से ही पेड़ और डालियां टूटने लगी। खंंभों के तार टूट गए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें