ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानRSS की प्रेरणा से ही करते हैं काम, विवाद के बीच बोले केंद्री मंत्री भूपेंद्र यादव

RSS की प्रेरणा से ही करते हैं काम, विवाद के बीच बोले केंद्री मंत्री भूपेंद्र यादव

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से आए बयान पर केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि इसे कुछ लोग गलत तरीके से पेश कर रहे हैं। हम संघ की प्रेरणा से ही काम करते हैं। यादल में अलवर में मीडिया से बात की।

RSS की प्रेरणा से ही करते हैं काम, विवाद के बीच बोले केंद्री मंत्री भूपेंद्र यादव
bhupendra yadav
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 15 Jun 2024 07:18 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से आए बयान पर केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि इसे कुछ लोग गलत तरीके से पेश कर रहे हैं। हम संघ की प्रेरणा से ही काम करते हैं। वहीं, केंद्रीय मंत्री बनने के बाद शनिवार को पहली बार भूपेंद्र यादव अलवर पहुंचे. यहां सबसे पहले उन्होंने भर्तृहरि व जगन्नाथ मंदिर में पूजा अर्चना की। मीडियाकर्मियों से रूबरू हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरिस्का को जल्द ही इको सेंसिटिव जोन फाइनल किया जाएगा.। साथही राज्य के वन मंत्री संजय शर्मा के प्रयास से दिल्ली में दो बार बैठक हो चुकी है। यह बड़ा विषय है। ऐसे में जल्द ही इसे फाइनल कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार के समय में वो कई बार इस मुद्दे पर पत्राचार भी किए, लेकिन परिणाम कुछ नहीं निकला। राज्य की पूर्ववर्ती गहलोत सरकार ने 700 दिनों तक सरिस्का के इको सेंसिटिव जोन के मसले को पेंडिंग रखा और किसी ने इसकी सुध तक नहीं ली।

सरिस्का में अवैध होटल, रिसोर्ट बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस दायरे में अवैध निर्माण नहीं होने दिए जाएंगे। सरिस्का टाइगर रिजर्व से ग्रामीणों के विस्थापन पर भूपेंद्र यादव ने कहा कि पैकेज प्रक्रिया चल रही है। अलवर में हर तरह से विकास कार्य किए जाएंगे। साथ ही जिले में गहराते पेजयल के संकट पर उन्होंने कहा कि पहली बैठक में ही पानी के मुद्दे को लेकर चर्चा हुई। भिवाड़ी में फैक्ट्रियों से निकल रहे दूषित पानी को लेकर उन्होंने कहा कि जल्द ही इसका समाधान निकाला जाएगा। हम जमीन पर समस्याओं को समझकर समाधान करेंगे। 

 केंद्रीय मंत्री ने सांसद बनाने पर अलवर की जनता का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वो कार्यक्रम में कितना ही व्यस्त क्यों न रहें, लेकिन हर सप्ताह वो अलवर आएंगे। वो इस साल के पूरा होने तक हर गांव में जाकर लोगों को आभार व्यक्त करेंगे।