ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थान'याद रखूंगा, आप भी रखियेगा' चर्चा में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का वीडियो

'याद रखूंगा, आप भी रखियेगा' चर्चा में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का वीडियो

राजस्थान में सरकार बदलते ही ब्यूरोक्रेसी का चेहरा बदलने की पुरानी रवायत रही है। इस बार भी ब्यूरोक्रेसी का चेहरा बदलने और योजनाओं का नाम बदलना तय माना जा रहा है। परंपरा जारी रह सकती है।

'याद रखूंगा, आप भी रखियेगा' चर्चा में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का वीडियो
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 04 Dec 2023 06:20 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में सरकार बदलते ही ब्यूरोक्रेसी का चेहरा बदलने की पुरानी रवायत रही है। इस बार भी ब्यूरोक्रेसी का चेहरा बदलने और योजनाओं का नाम बदलना तय माना जा रहा है। लेकिन इन दिनों केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का पुराना वीडियो चर्चा में है। यह वीडियो 22 मई 2020 का है। दरअसल, अपने गृह जिले जोधपुर पहुंचे केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एक स्थानीय अधिकारी के रवैये पर नाराजगी जताई थी। कोरोना संक्रमण काल के दौरान शेखावत जोधपुर नगर निगम आयुक्त  को बार बार फोन कर रहे थे, लेकिन आयुक्त ने उनका फोन रिसीव नहीं किया। कोरोना संक्रमण को लेकर बैठक में केंद्रीय जलशक्ति मंत्री ने आयुक्त को कहा ''मेरा फोन आपने रिसीव नहीं किया, आप भी याद रखना, मैं भी याद रखूंगा''।

निगम आयुक्त ने केंद्रीय मंत्री का फोन नहीं उठाया

बता दें लॉकडाउन के दौरान केंद्रीय मंत्री शेखावत की जोधपुर आवाजाही रही थे। उस समय जोधपुर आए केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कलक्ट्रेट परिसर स्थित डीआरडीए हॉल में अधिकारियों की बैठक ली थी। इस बैठक की शुरुआत में ही उन्होंने बीते 2 माह में नगर निगम के आयुक्त सुरेश ओला द्वारा उनके द्वारा भेजे गए मैसेज का जवाबनहीं देने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि मैंने और मेरे कार्यालय ने लगातार आपसे संपर्क करना चाहा, लेकिन आपकी ओर से कोई रिस्पॉन्स नहीं आया। शेखावत ने कहा कि मैं हैरान हूं कि ऐसे हालात में भी अगर कोई अधिकारी मेरे SMS का जवाब नहीं देता है। वह भी एक बार नहीं, 10 बार भेजने पर भी। उन्होंने आयुक्त से कहा कि मैं इसको लेकर कोई विवाद नहीं चाहता, लेकिन मैं भी इसे याद रखूंगा और आप भी याद रखना।

राज बदला, रिवाज नहीं 

बता दें इस बार भी राजस्थान में राज बदल गया है। हर पांच साल बाद सरकार बदलने का ट्रेंड बरकरार रहा हैछ। पिछले 25 साल से हर पांच साल बाद सरकार बदलती रही है। इस बार बीजेपी ने कांग्रेस को सत्ता से बाहर कर दिया। सरकार बदलने के साथ ही योजनाओं और पाठ्यक्रम में बदलाव होना तय माना जा रहा है। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि सीएम कौन होगा। मुख्यमंत्री की रेस में पूर्व सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और महंत बालकनाथ के नाम शामिल है। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें