ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानबेरोजगारों ने फिर खोला गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा, उपेन यादव ने रखी ये मांगे

बेरोजगारों ने फिर खोला गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा, उपेन यादव ने रखी ये मांगे

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने एक बार फिर गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अपनी चार सूत्रीय लंबित मांगों को लेकर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के बैनर तले सोमवार को धरना देंगे।

बेरोजगारों ने फिर खोला गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा, उपेन यादव ने रखी ये मांगे
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 12 Jun 2022 03:48 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने एक बार फिर गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अपनी लंबित मांगों को लेकर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के बैनर तले सोमवार को शहीद स्मारक पर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे। महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने यह जानकारी दी। उपेन यादव ने बताया कि सरकार ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया है। अधिकारियों से सिर्फ आश्वासन ही मिलता है। मांगे पूरी नहीं हुई है। 

गहलोत सरकार पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने बताया टेक्निकल हेल्पर भर्ती में 6000 पद करवाने, पंचायतीराज जेईएन भर्ती की विज्ञप्ति जल्द से जल्द से जारी करने, जूनियर अकाउंटेंट भर्ती को जल्द करवाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। यादव का कहना है कि सरकार को बने साढ़े तीन साल होने के बावजूद भी सरकार बेरोजगारों के साथ वादाखिलाफी कर रही है। इसीलिए बेरोजगार सोमवार को शहीद स्मारक पर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

भर्तियों में बाहरी राज्यों का कोटा खत्म हो 

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि हमारी मांग है कि प्रदेश की भर्तियों में बाहरी राज्यों का कोटा खत्म कर प्रदेश के बेरोजगारों को मौका दिया जाए। देश में अनेक राज्य ऐसे हैं जहां स्थानीय भर्तियों में राजस्थान के बेरोजगारों को मौका नहीं दिया जाता है लेकिन यहां कोई भी आता है और भर्तियों में स्थान प्राप्त कर लेता है। ऐसे में प्रदेश के बेरोजगारों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा। उन्होंने कहा कि बेरोजगारों ने अब सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है। जून महीने में राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के बैनर तले बेरोजगार अलग-अलग मांगों को लेकर और भी कई आंदोलन सरकार के खिलाफ करने वाले हैं।

epaper