ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानराजस्थान में दर्दनाक हादसा, तेज रफ्तार ट्रेन की चेपट में आया परिवार; पति-पत्नी समेत 3 की मौत

राजस्थान में दर्दनाक हादसा, तेज रफ्तार ट्रेन की चेपट में आया परिवार; पति-पत्नी समेत 3 की मौत

बताया जा रहा है कि जहां यह हादसा हुआ वहां पास में ही एक मंदिर है। शनिवार रात को मंदिर से काफी तेज आवाज आ रही थी। इसी के चलते तीनों ट्रेन की आवाज नहीं सुन पाए।

राजस्थान में दर्दनाक हादसा,  तेज रफ्तार ट्रेन की चेपट में आया परिवार; पति-पत्नी समेत 3 की मौत
Aditi Sharmaपीटीआई,चित्तौड़गढ़Sun, 16 Jun 2024 02:34 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में दर्दनाक हादसा हो गया है। यहां तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में आने से एक तीन लोगों की मौत हो गई है। तीनों लोग एक ही परिवार के सदस्य बताए जा रहे हैं जिनमें एक दंपत्ति भी शामिल था। घटना शनिवार देर रात की बताई जा रही है। तीनों लोग रेल की पटरी पार कर रहे थे। इसी दौरान तेज रफ्तार ट्रेन ने उन्हें कुचल दिया जिससे तीनों की मौत हो गई है। घटना  राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में निम्बाहेड़ा की है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को मोर्चरी में रखवाकर मामले की जांच शुरू की।

निम्बाहेड़ा कोतवाली थाना प्रभारी रामसुमेर मीना ने कहा, जहां यह हादसा हुआ वहां पास में ही एक मंदिर है। शनिवार रात को मंदिर से काफी तेज  आवाज आ रही थी। इसी के चलते रेल की पटरी पार कर रहे तीनों लोग उनकी ओर आ रही ट्रेन की आवाज नहीं सुन सके और उसकी चपेट में आ गए। इस हादसे में जान गंवाने वालों में 45 साल के मोहनलाल धोबी, 40 साल की उनकी पत्नी  ललिता और एक अन्य रिश्तेदार 35 साल की देवश्राी शामिल हैं।

झारखंड में भी ऐसा हादसा

इससे पहले झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले में शुक्रवार को एक रेलवे स्टेशन के पास मालगाड़ी की चपेट में आने से दो बच्चों समेत तीन लोगों की मौत हो गई।  यह दुर्घटना उस समय हुई जब एक पुरुष और दो वर्षीय एक बच्चा एवं तीन वर्षीय एक बच्ची सुबह-सुबह जमशेदपुर शहर के बाहरी इलाके में गोविंदपुर हॉल्ट स्टेशन के पास रेल लाइन पार कर रहे थे। बताया जा रहा है कि पीड़ित एक ही परिवार के सदस्य थे।

गोविंदपुर थाने के प्रभारी प्रकाश कुमार ने बताया कि तीनों संभवत: पूर्वी सिंहभूम जिले के पोटका प्रखंड के निवासी थे  गोविंदपुर हॉल्ट रेलवे स्टेशन दक्षिण पूर्व रेलवे के चक्रधरपुर डिवीजन के अंतर्गत आता है। घटना की  सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को पोस्टमार्टम के लिए एमजीएम अस्पताल भेजा गया।