ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानअलवर जिले के राजगढ़ में लूट गिरोह का खुलासा, चार आरोपी गिरफ्तार; दो बाइक जप्त

अलवर जिले के राजगढ़ में लूट गिरोह का खुलासा, चार आरोपी गिरफ्तार; दो बाइक जप्त

राजस्थान के अलवर जिले की राजगढ़ थाना पुलिस की टीम ने सुनसान रास्तों पर राहगीरों एवं छोटे वाहन चालकों के साथ लूट की घटना करने वाले गिरोह का खुलासा कर दिया है। चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

अलवर जिले के राजगढ़ में लूट गिरोह का खुलासा, चार आरोपी गिरफ्तार; दो बाइक जप्त
alwar news
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 24 Jun 2024 08:03 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के अलवर जिले की राजगढ़ थाना पुलिस की टीम ने सुनसान रास्तों पर राहगीरों एवं छोटे वाहन चालकों के साथ लूट की घटना करने वाले गिरोह का खुलासा कर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने माचाड़ी घाटी क्षेत्र में पिछले महीने इनके द्वारा लूटी गई बाइक के साथ घटना में प्रयुक्त एक अन्य बाइक जब्त की है। एसपी आनंद शर्मा ने बताया कि 1 मई को परिवादी ने रिपोर्ट देते हुए बताया कि 30 अप्रैल की रात करीब 9:00 बजे व मंडावर से अपने गांव आ रहा था। रास्ते में झरना धाम माचाड़ी घाटी रोड पर उसे चार व्यक्तियों ने रोका और उसके सिर पर किसी वस्तु से वार किया। चारों लुटेरे उसकी बाइक और मोबाइल लूट कर फरार हो गए। रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई।

आसूचना संकलन एवं तकनीकी सहायता से पुलिस ने घटना के आरोपी वीरेन्द्र कुमार जाट पुत्र खुबीराम उर्फ खुबराम (19) व हेमंत सेन पुत्र मुकेश (22) निवासी बरखेड़ा थाना मालाखेड़ा, विष्णु सैनी पुत्र बाबूलाल (22) निवासी वार्ड नंबर 1 मालाखेड़ा एवं संदीप प्रजापत पुत्र रूप सिंह (20) निवासी लिली थाना मालाखेड़ा अलवर को गिरफ्तार कर लूटी गई बाइक व एक अन्य बाइक जब्त की है। एसपी शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार किए गए बदमाश लूट, डकैती, चोरी के आदतन अपराधी हैं। इनके विरुद्ध विभिन्न स्थानों में इस प्रकार के कुल 11 आपराधिक मामले पूर्व में दर्ज हैं। करीब 20 दिन पहले ढिगावड़ा के पास हुई लूट के मामले में पुलिस ने आरोपी विष्णु, वीरेंद्र एवं हेमंत को गिरफ्तार कर लूटा गया सामान बरामद किया था।

गिरफ्तार सभी आरोपी 19 से 22 साल के नवयुवक है और आसपास के रहने वाले हैं। शाम ढलते ही ये बदमाश माचाड़ी घाटी और उसके आसपास के सुनसान रातों पर आ रहे राहगीरों एवं दुपहिया वाहन चालकों को रुकवा कर उनके साथ मारपीट कर कीमती सामान लूटकर फरार हो जाते हैं। इस कार्रवाई में एसएचओ रामजी लाल, एएसआई रामचरण, हेड कांस्टेबल दयाराम, कांस्टेबल मुकेश, लक्ष्मीकांत, जयराम, राजेश व अजीत शामिल थे।