ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानRAS Transfer List: भजनलाल के मंत्रियों को मिले विशिष्ट सहायक, 24 RAS का तबादला 

RAS Transfer List: भजनलाल के मंत्रियों को मिले विशिष्ट सहायक, 24 RAS का तबादला 

राजस्थान में भजनलाल सरकार ने 24 आरएएस अफसरों के तबादले किए है। अधिकांश अफसरों के मंत्रियों का विशिष्ट सहायक लगाया है। कार्मिक विभाग ने आदेश जारी कर दिए है। बड़ी तबादला सूची आ सकती है।

RAS Transfer List: भजनलाल के मंत्रियों को मिले विशिष्ट सहायक, 24 RAS का तबादला 
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 09 Feb 2024 07:35 PM
ऐप पर पढ़ें

24 RAS Transfer List:  राजस्थान में भजनलाल सरकार ने 24 आरएएस अफसरों के तबादले किए है। अधिकांश अफसरों के मंत्रियों का विशिष्ट सहायक लगाया है। कार्मिक विभाग ने आदेश जारी कर दिए है। कार्मिक विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार  आऱएएस  ललित कुमार- प्रबंध निदेशक राजस्थान बीज निगम, अंजू राजपाल- संयुक्त सचिव, मुख्यमंत्री राजस्थान, जयनारायण मीणा- विशिष्ट सहायक, मंत्री स्कूल शिक्षा पंचायतीराज, नरेश कुमार मालव- विशिष्ट सहायक, मंत्री सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, ओमप्रकाश बुनकर प्रथम- संयुक्त सचिव, मुख्यमंत्री लगाए गए है। कार्मिक विभाग ने आदेश जारी किए है।

राजपाल सिंह- विशिष्ट सहायक, राज्यमंत्री उद्योग एवं वाणिज्य विभाग

इसके अलावा आरएएस राजपाल सिंह- विशिष्ट सहायक, राज्यमंत्री उद्योग एवं वाणिज्य विभाग, ओमप्रकाश पंचम- विशिष्ट सहायक, राज्यमंत्री गृह गौपालन, रामरतन सौंकरिया- विशेषाधिकारी, मुख्यमंत्री राजस्थान, राकेश कुमार- विशिष्ट सहायक, राज्यमंत्री पंचायतीराज, ग्रामीण विकास, राजकुमार सिंह- विशेषाधिकारी, मुख्यमंत्री राजस्थान, भगवत सिंह राठौड़- विशिष्ट सहायक, मंत्री जनजाति, क्षेत्रीय विकास विभाग, जयप्रकाश नारायण- उप सचिव, मुख्यमंत्री,  संजय कुमार प्रथम- विशिष्ट सहायक, मंत्री संसदीय कार्य विभाग, हेमेन्द्र नागर- उप सचिव, मुख्यमंत्री राजस्थान और राजेन्द्र प्रसाद अग्रवाल- विशिष्ट सहायक, मंत्री जल संसाधन विभाग लगाए गए है। 

पसंद के आधार पर लगाए गए विशिष्ट सहायक

तबादला सूची में भजनलाल के 12 मंत्रियों को विशिष्ट सहायक मिले है। लेकिन पिछली सूची में जो विशिष्ट सहायक थे उनको जगह इस सूची में नहीं मिल पाई है। माना जा रहा है कि मंत्रियों के पंसद के आधार पर ही विशिष्ट सहायक लगाए गए है। क्योंकि पिछली सूची में मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपनी पंसद के आधार पर लगाए थे। जिसकी वजह से मंत्रियों ने अपने यहां लगाने से इंकार कर दिया। अब मंत्रियों की पंसद के आधार पर ही लगाए गए है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें