ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थान...तभी ये दिक्कत आई, राम मंदिर पर अशोक गहलोत; सीपी जोशी का पलटवार 

...तभी ये दिक्कत आई, राम मंदिर पर अशोक गहलोत; सीपी जोशी का पलटवार 

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि राम सबके हैं। राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का भाजपा द्वारा राजनीतिकरण कर दिया। भाजपा ने मुद्दा बनाया दिया। इसलिए दिककत आई है।

...तभी ये दिक्कत आई, राम मंदिर पर अशोक गहलोत; सीपी जोशी का पलटवार 
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 13 Jan 2024 02:13 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि राम सबके हैं। राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का भाजपा द्वारा  राजनीतिकरण किए जाने के मुद्दे पर मीडिया में विचार रखे। गहलोत ने कहा कि भाजपा ने मुद्दा बनाया तभी तो ये दिक्कत आई। राम मंदिर सबकी आस्था का केंद्र है। सुप्रीम कोर्ट ने कह दिया तो झगड़ा मिट गया था। सभी देशवासियों ने फैसले का स्वागत किया। सरकार को भी उसी प्रकार का व्यवहार करना चाहिए था। लेकिन सरकार ने इसका राजनीतिकरण किया। जब राम मंदिर सबका है जो शुरुआत से अगर सभी को साथ लेकर चलते तो ये नौबत नहीं आती, लेकिन इसे RSS और भाजपा का कार्यक्रम बना दिया गया। 

सीपी जोशी ने साधा निशाना 
अशोक गहलोत के इस बयान पर भाजपा आग बबूला है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी ने सीएम गहलोत पर तीखी प्रतिक्रया देते हुए कहा कि यह समझ से परे है कि कांग्रेस को प्रभु श्री राम से तकलीफ क्यों है ? अगर वह भी इस प्राण प्रतिष्ठा में शामिल हो तो उनके सभी पाप धूल जाएंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी ने कहा कि आखिर कांग्रेस को प्रभु श्री राम के नाम से तकलीफ क्यों है ? यह वहीं कांग्रेस पार्टी है जिन्होंने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया था कि राम कभी पैदा नहीं हुए। राम काल्पनिक है। यह वही कांग्रेस है जिसने सनातन को डेंगू, मलेरिया और ऐड कहा था, लेकिन मैं तो सिर्फ यही कहूंगा कि भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बना है। 

22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा की जानी है

उल्लेखनीय है कि 22 जनवरी को अयोध्या स्थित राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा की जानी है। जिसको लेकर भव्य आयोजन किया जाएगा। ऐसे में कार्यक्रम को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई है। महज कुछ दिनों के शेष रहते सुरक्षा व्यवस्था के भी चाक चौबंध इंतजाम किए गए है। इसके साथ ही आने वाले लोगों के लिए भी उत्तम दर्जे की व्य्वसथा की गई है। राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी 2024 को होगी। जिसको लेकर एक भव्य आयोजन किया जाएगा। दूसरी ओर सियासी गलियारो में इसको लेकर बयान बाजी का सिलसिला भी लगातार जारी है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें