ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानराजू ठेहट मर्डर:  हनुमान बेनीवाल संग सरकार का हुआ समझौता, प्रदर्शनकारियों की मांगे मानी

राजू ठेहट मर्डर:  हनुमान बेनीवाल संग सरकार का हुआ समझौता, प्रदर्शनकारियों की मांगे मानी

राजस्थान की सीकर जिले में गैंगस्टर राजू ठेहट हत्यकांड में रविवार देर रात प्रदर्शनकारियों के धरने पर विराम लग गया। प्रशासन के आश्वासन के बाद प्रदर्शनकारियों ने धरने पर विराम लगाया।

राजू ठेहट मर्डर:  हनुमान बेनीवाल संग सरकार का हुआ समझौता, प्रदर्शनकारियों की मांगे मानी
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 05 Dec 2022 08:42 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की सीकर जिले में गैंगस्टर राजू ठेहट हत्यकांड में रविवार देर रात प्रदर्शनकारियों के धरने पर विराम लग गया। प्रशासन के आश्वासन के बाद प्रदर्शनकारियों ने धरने पर विराम लगाया। नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल और कांग्रेस विधायक मुकेश भाकर लोगों के साथ देर रात तक धरना स्थल पर जमे रहे।  बेनीवाल और भाकर ने ट्वीट के माध्यम से समझौते की जानकारी दी। सांसद हनुमान बेनीवाल और मुकेश भाकर की देर रात प्रशासन के साथ वार्ता सफल रही। सरकार ने प्रदर्शनकारियों की मांगे मान ली है।  

बेनीवाल बोले- सकारात्मक वार्ता हुई 

सांसद हनुमान बेनीवाल ने ट्वीट कर कहा-देर रात पीड़ित पक्ष की मांगों पर सकारात्मक वार्ता हुई है। वार्ता के बिंदुओं को जिला कलेक्टर, अन्य सरकारी अधिकारियों और उपस्थित जनप्रतिनिधियों के सामने प्रस्तुत किया है। बता दें, हनुमान बेनीवाल गैंगस्टर राजू ठेहट और नागरिक ताराचंद कड़वासरा के परिजनों को सरकारी नौकरी, आर्थिक मुआवजा और सुरक्षा देने की मांग कर रहे थे। सीकर जिला कलेक्टर और पुलिस अधिकारियों के बीच देर रात समझौता हो गया। 

गैंगस्टर की हत्या पर उपजा था तनाव

बता दें, गैंगस्टर राजू ठेहट की सीकर में हत्या कर दी गई है। पुलिस ने 4 बदमाशों समेत 5 लोगों को पकड़ लिया था। राजू ठेहट की हत्या के बाद सीकर में तनाव हो गया था। सीकर लगातार दूसरे दिन भी बंद रहा। रोलोपा संयोजक एवं नागौर सांसद हनुमान बेनीनाल, कांग्रेस विधायक मुकेश भाकर और राजस्थान विवि के अध्यक्ष निर्मल चौधरी समेत बड़ी संख्या में स्थानीय जनप्रतनिधि धरने पर बैठ गए थे। रविवार को आक्रोशित युवकों ने पुलिस के बैरिकेट्स तोड़ दिए थे। सांसद हनुमान बेनीवाल और मुकेश भाकर की देर रात प्रशासन के साथ वार्ता सफल रही। सरकार ने प्रदर्शनकारियों की मांगे मान ली है।