ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजीव गांधी युवा मित्रों का धरना, सचिन पायलट बोले- सरकार की गलत मंशा

राजीव गांधी युवा मित्रों का धरना, सचिन पायलट बोले- सरकार की गलत मंशा

राजस्थान में राजीव गांधी युवा मित्रों के धरने को सचिन पायलट का समर्थन मिला है। सचिन पायलट आज जयपुर के शहीद स्मारक पहुंचे और धरनार्थियों का समर्थन किया। बीजेपी पर जमकर निशाना साधा।

राजीव गांधी युवा मित्रों का धरना, सचिन पायलट बोले- सरकार की गलत मंशा
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 19 Jan 2024 04:14 PM
ऐप पर पढ़ें

Rajiv Gandhi Yuva Mitra News: राजस्थान में राजीव गांधी युवा मित्रों के धरने को सचिन पायलट का समर्थन मिला है। सचिन पायलट आज जयपुर के शहीद स्मारक पहुंचे और धरनार्थियों का समर्थन किया। युवा मित्रों ने शुक्रवार को शहीद स्मारक पर धरना दिया। इस दौरान पायलट ने कहा कि राजस्थान की भाजपा सरकार झूठे वादे कर सत्ता में आई है। प्रदेश में कैबिनेट से पहले युवाओं से रोजगार छीन लिया गया। जो सरकार की गलत मंशा को दर्शाता है। सचिन पायलट जी ने शहीद स्मारक पहुंचकर राजीव गांधी युवा मित्रों से मुलाकात की। राजीव गांधी युवा मित्र बहाली की मांग को लेकर कर रहे आमरण अनशन। सचिन पायलट जी ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा की सरकार की यह कार्यवाही कहीं ना कहीं प्रतिशोध की भावना से की जारही है नौजवानो को रोजगार देने की बात भाजपा करती है केंद्र सरकार करती है. राजस्थान सरकार करती है अभी चुनाव लड़े गये थे। उसमे कहा गया था। नौजवानो को अवसर दिये जाएंगे।

रोजगार खत्म नहीं करना चाहिए

सचिन पायलट ने कहा कि मेरा आग्रह है जिन लोगों को पहले से ही सर्विस पर रखा गया है उन लोगों को यदि हम बहाल नहीं कर सकते। कोई विकल्प नहीं दे सकते। जो स्थिती बनी हुई। लोगों के रोजगार खत्म करके नौकरिया कम करने का जो काम हो रहा है। उसका हम सब विरोध करते है और हम सरकार से भी चाहते है। इतने जो हजारों नौजवानों को सरकार ने नौकरी पर रखा था यदि आपको किसी नाम से परेशानी है उसका नाम बदलना चाहते है। टर्म और कंडीशन बदलना चाहते है। किसी प्रावधान में बदलाव करना चाहते है। 

सरकार को ध्यान देना चाहिए

सचिन पायलट ने कहा कि रोजगार छीन ले मैं इसको गलत कदम मानता हूं।  इतने दिनों से यह सब लोग धरना दे रहे है।अनशन कर रहे गई कही लोगों की तबीयत भी खराब हो गई है सरकार को आगे आकर इनसे चर्चा करनी चाहिए.ओर मेरा आप से इतना ही निवेदन है  की आप यदि और नौकरी नहीं दे पा रहे है तो कम से कम जिन लोगों को हमने नौकरी दी थी उनको आप द्वेषतापूर्ण कार्रवाई करके यदि खत्म करोगे। तो बड़ा गलत सन्देश जायेगा नौजवानों के बीच में। हम यहां सभी नौजवानों को समर्थन करने के लिए इनकी मांगो को समर्थन देने के लिए यहां आएं है। 


 


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें