ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजस्थान को मिलेगा नया सीएम, अफसरों को सता रहा है डर; जानें क्यों 

राजस्थान को मिलेगा नया सीएम, अफसरों को सता रहा है डर; जानें क्यों 

राजस्थान में राज बदल गया है। रिवाज नहीं बदला है। नए मुख्यमंत्री कौन होगा। इसको लेकर चल रहे मंथन के बीच ब्यूरोक्रेसी ने फिल्डिंग जमानी शुरू कर दी है। अफसर परदे के पीछे सक्रिय हो गए है।

राजस्थान को मिलेगा नया सीएम, अफसरों को सता रहा है डर; जानें क्यों 
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 04 Dec 2023 08:53 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में राज बदल गया है। रिवाज नहीं बदला है। नए मुख्यमंत्री कौन होगा। इसको लेकर चल रहे मंथन के बीच ब्यूरोक्रेसी ने फिल्डिंग जमानी शुरू कर दी है। अफसरों नई सरकार आते ही डर सता रहा है। परदे के पीछे अफसर फिल्डिंग जमा रहे हैं। नई सरकार के गठन के साथ ही प्रदेश को ब्यरोक्रेसी का मुखिया भी मिलेगा। क्योंकि निवर्तमान मुख्य सचिव ऊषा शर्मा 31 दिसंबर को रिटायर हो रही है। 

मुख्य सचिव बदलना भी तय माना जा रहा है

मुख्य सचिव बदलना भी तय माना जा रहा है। फिलहार आधा दर्जन नाम मुख्य सचिव की रेस में शामिल है। सचिवालय के गलियारों में चर्चा है कि वरिष्ठता के आधार पर देखें तो चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव  शुभ्रा सिंह का नाम सबसे आगे है। नाम कुछ और भी रेस में बताए जा रहे हैं, लेकिन वे वरिष्ठता में नीचे हैं। चर्चा है कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की टीम में शामिल राजस्थान कैडर के वरिष्ठ आईएएस संजय मल्होत्रा भी रेस में शामिल है। संजय मल्होत्रा केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली में तैनात है। वित्त विभाग में बड़ी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। 

फिल्डिंग जमाने में लगे अफसर

राजस्थान में सत्ता परिवर्तन होने के साथ ही वसुंधरा राजे सरकार के कार्यकाल में प्राइम पोस्टिंग में जमे अफसरों ने लामबंदी तेज कर दी है। सूत्रों के अनुसार केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर तैनात अफसर राजस्थान आ सकते हैं। बता दें राजस्थान में 2018 में सत्ता परिवर्तन होते ही आधा दर्जन अफसर केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली चले गए थे। इनमें वसुंधरा राजे के प्रमुख शासन सचिव रहे तन्मय कुमार, संजय मल्होत्रा, रजत मिश्र औऱ आलोक के नाम प्रमुख रूप से शामिल है। ऐसा माना जा रहा है कि वसुंधरा राजे मुख्यमंत्री बनती है तो तन्ंमय कुमार राजस्थान लौट सकते है। तन्मय कुमार को वसुंधरा राजे के वफादार अफसर माना जाता है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें