ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानपायलट समर्थक मंत्री की बेटी का राजस्थान विश्वविद्यालय से NSUI से टिकट कटा, रोते हुए दिखाए बगावती तेवर

पायलट समर्थक मंत्री की बेटी का राजस्थान विश्वविद्यालय से NSUI से टिकट कटा, रोते हुए दिखाए बगावती तेवर

राजस्थान में छात्रसंघ चुनाव को लेकर एनएसयूआई ने अपने प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है। पायलट समर्थक मंत्री मुरारी लाल मीना की बेटी निहारिका जोरवाल का टिकट कट गया है।वह निर्दलीय चुनाव लड़ेगी।

पायलट समर्थक मंत्री की बेटी का राजस्थान विश्वविद्यालय से  NSUI से टिकट कटा, रोते हुए दिखाए बगावती तेवर
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 18 Aug 2022 03:29 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में छात्रसंघ चुनाव को लेकर एनएसयूआई ने अपने प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है। कांग्रेस समर्थित छात्र संगठन NSUI रितु बराला को प्रत्याशी बनाया है।  टिकट कटने से नाराज पायलट समर्थक मंत्री मुरारी लाल मीना की बेटी निहारिका जोरवाल नाराज हो गई। निहारिका ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। टिकट नहीं मिलने से नाराज निहारिका जोरवाल के समर्थकों ने एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष अभिषेक चौधरी के खिलफ जमकर नारेबाजी की। अभिषेक चौधरी ने कहा कि छात्रों की मांग के आधार पर इस बार टिकट का ऐलान किया है। मुझे उम्मीद ही नहीं पूरा विश्वास है कि आम छात्र रितु बराला को भारी वोटों से जीत दिलाएंगे। वहीं निहारिका के निर्दलीय चुनाव लड़ने पर भी अभिषेक ने कहा कि निहारिका हमारी बहन और एनएसयूआई परिवार की सदस्य हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि वह निर्दलीय चुनाव नहीं लड़ेंगी।

निहारिका बोलीं- जातिवाद फैला रखा है 

पर्यटन राज्यमंत्री मुरारी लाल की बेटी निहारिका ने कहा कि काबिलियत किसी की गुलाम नहीं है। टिकट बांटने वाले बोलते हैं कि एससी/एसटी के वोट नहीं है। अब हम निर्दलीय चुनाव लड़कर दिखाएंगे कि कितने वोट हैं हमारे। जातिवाद फैला रखा है। कहते हैं जाट बाहुल्य क्षेत्र है, इसलिए आदिवासी महिला को टिकट नहीं दे सकते। आप ही बताइए पिछली बार पूजा वर्मा कैसी जीतीं। अब मैंने निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। इस पूरी बातचीत में निहारिका ने अभिषेक चौधरी का नाम लिए बगैर एनएसयूआई पर निशाना साधा।

निहारिका जोरवाल को पछाड़ा

एनएसयूआई से टिकट लेने के सबसे मजबूत दावेदारों में से एक नाम निहारिका जोरवाल का भी था। पर्यटन और एग्रीकल्चर मार्केटिंग राज्य मंत्री मुरारी लाल मीणा की बेटी निहारिका भी पिछले 4 साल से एक्टिव होकर एनएसयूआई के लिए काम कर रहीं थीं। एनएसयूआई के स्टेट प्रेजिडेंट ने गुरुवार को जैसे ही रितु बराला के नाम की घोषणा हुई तो निहारिका जोरवाल रो पड़ीं। निहारिका ने मीडिया से बातचीत करते हुए टिकट बांटने में जातीवाद का भी आरोप लगाया।

epaper