ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानराजस्थान राज्यसभा चुनाव: कांग्रेस पर्यवेक्षक टीएस सिंह देव आज पहुंचेंगे उदयपुर, विधायकों की लेंगे मीटिंग

राजस्थान राज्यसभा चुनाव: कांग्रेस पर्यवेक्षक टीएस सिंह देव आज पहुंचेंगे उदयपुर, विधायकों की लेंगे मीटिंग

राजस्थान राज्यसभा चुनाव के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से राजस्थान के लिए नियुक्त किए गए पर्यवेक्षक टीएस सिंह देव आज नई दिल्ली से उदयपुर पहुंचेंगे। विधायकों की मीटिंग लेंगे।

राजस्थान राज्यसभा चुनाव: कांग्रेस पर्यवेक्षक टीएस सिंह देव आज पहुंचेंगे उदयपुर, विधायकों की लेंगे मीटिंग
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरWed, 08 Jun 2022 08:20 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान राज्यसभा चुनाव को लेकर प्रदेश में सियासी घमासान मचा हुआ है। राज्यसभा चुनाव के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से राजस्थान के लिए नियुक्त किए गए पर्यवेक्षक टीएस सिंह देव आज दिल्ली से उदयपुर पहुंचेंगे। टीएस सिंह देव 1 बजकर 20 मिनट पर दिल्ली से उदयपुर के लिए रवाना होंगे। दोपहर बाद करीब पौने तीन बजे उदयपुर पहुंचने का कार्यक्रम है। बाड़ेबंदी में कांग्रेस विधायकों सहित मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात करेंगे। विधायकों को भी संबोधित करेंगे। राज्यसभा चुनावों को लेकर चर्चा करेंगे। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल और टीएस सिंह देव को चुनाव पर्यवेक्षक बनाया है

कांग्रेस के तीनों उम्मीवार बाड़ेबंदी में मौजूद

कांग्रेस के तीनों उम्मीदवार रणदीप सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी बाड़ेबंदी में मौजूद है। आज विधायकों के लिए वोट डालने की ट्रेनिंग का सेशन आयोजित किया जाएगा। ट्रेनिंग कैंप दो सत्रों में आयोजित किया जाएगा। विधायकों को राज्यसभा चुनाव में वोट डालने की ट्रेनिंग दी जाएगी। वोट डालने के दौरान क्या-क्या सावधानियां बरतनी है उनके बारे में बताया जाएगा। राजस्थान राज्यसभा की 4 सीटों पर 10 जून को मतदान होना है. कांग्रेस ने इसके लिए 3 प्रत्याशी रणदीप सुरजेवाला, प्रमोद तिवारी और मुकुल वासनिक को मैदान में उतारा है. वहीं, बीजेपी की ओर से अधिकृत प्रत्याशी घनश्याम तिवाड़ी को मैदान में उतारा गया है। जबकि बीजेपी समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में उद्योगपति डॉ. सुभाष चंद्रा भी चुनावी मैदान में है। विधायकों के संख्या बल के लिहाज से सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस दो सीटों पर जीत सकती है। बीजेपी की एक सीट पर जीत सुनिश्चित मानी जा रही है, लेकिन एक सीट पर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इस सीट पर दोनों ही राजनीतिक दल अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। 

कांग्रेस 4 में 3 सीट जीतने को लेकर आश्वस्त

राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस 4 में 3 सीट जीतने को लेकर आश्वस्त है। कांग्रेस को तीसरी सीट के लिए निर्दलीय विधायकों की जरूरत पड़ेगी। भाजपा की एक सीट पक्की है, जबकि दूसरी सीट के लिए निर्दलीय विधायकों का समर्थन चाहिए। सभी 13 निर्दलीय विधायक गहलोत सरकार को समर्थन दे रहे हैं। निर्दलीय विधायकों के दम पर बीजेपी सियासी लाभ उठाना चाहती है। बीजेपी नेताओं को उम्मीद है कि गहलोत कैबिनेट में जगह नहीं मिलने से नाराज चल रहे निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिल सकता है। राजस्थान विधानसभा में संख्या बल कांग्रेस के पक्ष में है। कांग्रेस के पास 108 विधायक, भाजपा के पास 71, निर्दलीय 13, आरएलपी 3, बीटीपी 2, माकपा 2 और आरएलडी के पास एक विधायक है। संभावना है कि यदि उलटफेर नहीं हुआ तो मौजूगा संख्या बल के हिसाब से कांग्रेस 4 में 3 राज्यसभा की सीट आसानी से जीत जाएगी।
 

epaper