ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानRS चुनाव: सुभाष चंद्रा के दावे के बाद कांग्रेस किरोड़ी फैक्टर से डरी, पायलट कैंप के मंत्री से मिलने पहुंचे गहलोत, जानें वजह

RS चुनाव: सुभाष चंद्रा के दावे के बाद कांग्रेस किरोड़ी फैक्टर से डरी, पायलट कैंप के मंत्री से मिलने पहुंचे गहलोत, जानें वजह

राजस्थान में भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा के क्राॅस वोटिंग के दावे के बाद सीएम गहलोत अलर्ट मोड़ पर है। सीएम आज अचानक पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह संग मंत्री मुरारी लाल मीना से मिले।

RS चुनाव: सुभाष चंद्रा के दावे के बाद कांग्रेस किरोड़ी फैक्टर से डरी, पायलट कैंप के मंत्री से मिलने पहुंचे गहलोत, जानें वजह
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरWed, 08 Jun 2022 10:20 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान नें राज्यसभा चुनाव के दो दिन शेष बचे है। भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा के क्राॅस वोटिंग के दावे के बाद सीएम गहलोत अलर्ट मोड़ पर आ गए है। सीएम गहलोत आज अचानक मुकुल वासनिक और पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह के साथ मंत्री मुरारी लाल मीना के जगतपुरा स्थित आवास पर मिलने पहुंचे। पर्यटन राज्य मंत्री मुरारी लाल मीना ने खुद ट्वीट कर यह जानकारी दी है। मुरारी लाल मीना के मुताबिक वह बीमार है। इसलिए हालचाल पूछने के लिए सीएम उनके आवास पर आए। जानकारों का कहना है कि असल वजह किरोडी लाल मीना की मंत्री मुरारीलाल और विश्वेंद्र सिंह के बीच बढ़ती नजदीकी है। राज्य की  सियासत में भाजपा सांसद किरोड़ी की मुरारी लाल और विश्वेंद्र सिंह के साथ दोस्ती जगजाहिर है। गहलोत सियासी समीकरण साधने के लिए ही अचानक मंत्री मुरारी लाल के आवास पर पहुंच गए। गहलोत आज उदयपुर में चल रही कांग्रेस की बाड़ेबंदी से बाहर निकलकर जयपुर आए थे। इस दौरान गहलोत ने मुरारी लाल से मुलाकात की है। इससे पहले गहलोत पायलट कैंप के माने जाने वाले विधायक भंवरलाल शर्मा से भी मिले थे।

कांग्रेस को किरोड़ी फैक्टर का डर 

जानकारों का कहना कि किरोड़ी फैक्टर कांग्रेस को राज्यसभा चुनाव में नुकसान पहुंचा सकता है। किसी समय किरोडी के धुर विरोधी रहे मंत्री मुरारी लाल बदले-बदले नजर आ रहे है। किरोड़ी और मुरारीलाल सार्वजनिक कार्यक्रमों में एक साथ दिखाई देते हैं। इन दिनों राज्य की सियासत में पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह और किरोड़ी लाल की दोस्ती की खूब चर्चाएं हो रही है। हाल ही के दिनों में किरोड़ी लाल ने मंत्री विश्वेंद्र सिंह से उनके आवास पर जाकर कई बार मुलाकात की थी। राजस्थान की सियासती में मंत्री मुरारी लाल और विश्वेंद्र सिंह को पायलट कैंप के मंत्री माने जाते हैं। साल 2020 में जब पायलट ने गहलोत के खिलाफ बगावत की थी। उस दौरान विश्वेंद्र सिंह को मंत्री पद से बर्खास्त कर  दिया गया था। मुरारी लाल ने खुलकर बगावत कर दी थी। गुड़गांव के जिस होटल में पायलट कैंप के विधायकों को रखा गया था उसमें मुरारीलाल और विश्वेंद्र सिंह भी शामिल थे। 

सुभाष चंद्रा के दावे के बाद कांग्रेस सतर्क 

उल्लेखनीय है कि भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा ने दावा किया कि कांग्रेस के 8 विधायक क्राॅस वोटिंग करेंगे। सुभाष चंद्रा ने कहा कि कांग्रेस की बाड़ेबंदी में शामिल विधायकों से पहले ही बात हो गई थी। हालांकि, कांग्रेस ने सुभाष चंद्रा के दावे को सिरे से खारिज कर दिया है। लेकिन कांग्रेस सतर्क हो गई है। सीएम गहलोत ने कहा कि हमारे तीनों प्रत्याशी चुनाव जीतेंगे। सभी एकजुट है। क्राॅस वोटिंग नहीं होगी। कांग्रेस ने रणदीप सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी को अपना उम्मीदवार बनाया है। जबकि भाजपा ने निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा को समर्थन देने का ऐलान किया है। 

epaper