ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानराजस्थान राज्यसभा चुनाव क्राॅस वोटिंग: शोभारानी कुशवाह के बगावती तेवर, बीजेपी विधायक ने नाराजगी की बताई ये वजह 

राजस्थान राज्यसभा चुनाव क्राॅस वोटिंग: शोभारानी कुशवाह के बगावती तेवर, बीजेपी विधायक ने नाराजगी की बताई ये वजह 

राजस्थान राज्यसभा चुनाव में क्राॅस वोटिंग करने वाली भाजपा विधायक शोभारानी कुशवाह ने बगावती तेवर अपना लिए है। धौलपुर विधायक ने कहा कि भाजपा नेतृत्व ने मेरा एक भी वादा पूरा नहीं किया।

राजस्थान राज्यसभा चुनाव क्राॅस वोटिंग: शोभारानी कुशवाह के बगावती तेवर, बीजेपी विधायक ने नाराजगी की बताई ये वजह 
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 11 Jun 2022 06:38 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान राज्यसभा चुनाव में क्राॅस वोटिंग करने वाली भाजपा विधायक शोभारानी कुशवाह ने बगावती तेवर अपना लिए है। केंद्रीय अनुशासन समिति द्वारा कारण बताओ नोटिस देने के बाद धौलपुर विधायक शोभारानी कुशवाह ने कहा कि 2017 के धौलपुर उपचुनाव के लिए मैं और मेरा कुशवाह समाज बीजेपी के पास नहीं गए थे। बल्कि बीजेपी के लोग मेरे पास आए थे। बीजेपी ने मेरे परिवार को तबाह किया है। जब इन लोगों कि धौलपुर  जिले के साथ-साथ पूरे राजस्थान का कुशवाह समाज बीजेपी के हाथ से निकल सकता है तो खुद चलकर आए थे। मेरे समाज के प्रदेश अध्यक्ष और जिम्मेदार 20 बुजुर्ग और युवाओं के सामने कुछ वायदे किए थे। एक भी वादा पूरा नहीं हुआ।  बीजेपी हाईकमान उन महान बड़े लोगों से पूछे जो हमें बीजेपी में लेकर गए थे। हमारे साथ ऐसा क्यों हुआ।

बीजेपी ने मेरे समर्थक को हरवाया 

वसुंधरा कैंप की मानी जानीं वाली विधायक ने आगे कहा कि धौलपुर नगर परिषद चेयरमैन चुनाव में मेरे समर्थक और बीजेपी के जन्मजात कार्यकर्ता एवं अग्रवाल समाज के  प्रदेश अध्यक्ष गिरीश गर्ग की बहू को बीजेपी की ओर से नगर परिषद चेयरमैन का प्रत्याशी बनाया गया था। हमारे पास जीतने के पर्याप्त संख्या थी। लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय नेताओं ने हमारे जीते हुए पार्षदों को कांग्रेस को देकर कांग्रेस का सभापति बना दिया था। बीजेपी उम्मीदवार को हरा दिया। जिसकी जानकारी जयपुर से लेकर दिल्ली तक दी गई थी। लेकिन उन बड़े नेताओं को सस्पेंड करना तो दूर की बात है उन्हें नोटिस तक नहीं दिया गया। ऐसी पार्टी में कौनसा नेता या कार्यकर्ता काम करना चाहेगा। 
बीजेपी में हम कैसे काम कर सकते हैं 

शोभारानी कुशवाह को कारण बताओ नोटिस 

शोभारानी ने कहा कि हाल ही में संपन्न पंचायत चुनावों में मैंने धौलपुर पंचायत समिति प्रधान के लिए लोधा समाज के नवल लोधा बीजेपी प्रधान प्रत्याशी बनाया था। लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय नेताओं ने जानबूझकर अपने ही कार्यकर्ताओं से उसे हरवा दिया। अब बताएं ऐसे स्थिति में कौनसा नेता या कार्यकर्ता काम करना चाहेगा। उल्लेखनीय है कि भाजपा विधायक को पार्टी हाईकमान ने आज ही कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जवाब देने के लिए 7 दिन का समय दिया है। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि जवाब मिलने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। राज्यसभा चुनाव में क्राॅस वोटिंग करने पर भाजपा ने शुक्रवार को शोभारानी कुशवाह को पार्टी की सदस्यता से निलंबिक कर दिया था। 

epaper