ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानफोन टैपिंग पर लोकेश शर्मा का आज बड़ा खुलासा, निशाने पर कौन? अशोक गहलोत या गजेंद्र सिंह शेखावत

फोन टैपिंग पर लोकेश शर्मा का आज बड़ा खुलासा, निशाने पर कौन? अशोक गहलोत या गजेंद्र सिंह शेखावत

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत के ओएसडी रहे लोकेश शर्मा ने आज एक्स पर लिखा- इस सवाल का अंत आज हो ही जाएगा।क्या-क्या खुलासे होंगे शाम का वक्त ही बताएगा। बयान से हलचल तेज हो गई है।

फोन टैपिंग पर लोकेश शर्मा का आज बड़ा खुलासा, निशाने पर कौन? अशोक गहलोत या गजेंद्र सिंह शेखावत
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरWed, 24 Apr 2024 11:05 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत के ओएसडी रहे लोकेश शर्मा ने आज एक्स पर लिखा- इस सवाल का अंत आज हो ही जाएगा।क्या-क्या खुलासे होंगे शाम का वक्त ही बताएगा। ऐसा माना जा रहा है कि लोकेश शर्मा दूसरे चरण के लोकसभा से पहले बड़ा खुलासा कर सकते है। ऐसा माना जा रहा है कि फोन टैपिंग को लेकर बड़े खुलासे करेंगे। अब देखना यह है कि कथित बड़ा खुलासा अशोक गहलोत की मुश्किल बढ़ाएगा या फिर गजेंद्र सिंह शेखावत की। लोकेश शर्मा ने आज विधायकों की खरीद फरोख्त से संबंधित ऑडियो टेप वायरल होने का मामला उठाते हुए लिखा, 'ऑडियो कहां से प्राप्त हुए और किसके कहने पर वायरल हुए? इस सवाल का अंत आज हो ही जाएगा। क्या-क्या खुलासे होंगे शाम का वक्त ही बताएगा।' सियासी जानकारों का कहना है कि इन दिनों लोकेश शर्मा की नजदीकी बीजेपी नेताओं के साथ बढ़ रही है। लोकेश शर्मा अशोक गहलोत और उनके बेटे वैभव गहलोत को निशाने पर लेते रहे है। ऐसे में माना जा रहा है कि गहलोत की मुश्किलें बढ़ाने खुलासे कर सकते है। 

सचिन पायलट की बगावत से जुड़ा मामला 

उल्लेखनीय है कि ये पूरा मामला राजस्थान में पिछली गहलोत सरकार के सियासी संकट से जुड़ा हुआ है। जुलाई 2020 में तत्कालीन सीएम अशोक गहलोत ने विधायकों की खरीद फरोख्त को लेकर बीजेपी पर आरोप लगाए थे। उस वक्त गहलोत ने कई बार चेतावनी देते हुए कहा था कि उनके पास इस बात के सबूत भी हैं, जिसे कांग्रेस की तरफ से 18 जुलाई को जारी किया गया था। इस ऑडियो टेप के जरिए दावा किया गया था कि कांग्रेस विधायक के साथ बीजेपी के कुछ नेता सरकार गिराने की साजिश और विधायकों की सौदेबाजी कर रहे हैं।

गजेंद्र सिंह शेखावत ने लगाए थे फोन टैपिंग के आरोप

फोन टैपिंग वाले इस प्रकरण में लोकेश शर्मा के खिलाफ गजेन्द्र सिंह शेखावत ने दिल्ली में FIR दर्ज करवाई थी। दिल्ली हाईकोर्ट ने लोकेश शर्मा के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई करने रोक लगा रखी है। पायलट गुट की बगावत के दौरान गजेंद्र सिंह शेखावत और कांग्रेस नेताओं के बीच कथित फोन पर हुई बातचीत के ये आडियो टेप कहे जाते हैं। केंद्रीय मंत्री ने दिल्ली पुलिस आयुक्त को ईमेल के जरिए शिकायत की थी, जिसमें लोकेश शर्मा पर फोन टैपिंग के आरोप लगाए थे। फिलहाल दिल्ली में यह मामला चल रहा है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें