ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानगहलोत के खेवनहार बने BSP विधायकों की बढ़ी नाराजगी, दिल्ली में डेरा डाला; CM डैमेज कंट्रोल में जुटे

गहलोत के खेवनहार बने BSP विधायकों की बढ़ी नाराजगी, दिल्ली में डेरा डाला; CM डैमेज कंट्रोल में जुटे

राजस्थान में बीएसपी से कांग्रेस में आए विधायकों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। 6 में से 3 विधायक- राजेंद्र गुढ़ा, लाखन सिंह मीना, संदीप यादव ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। ये नाराज बताए जा रहे हैं।

गहलोत के खेवनहार बने BSP विधायकों की बढ़ी नाराजगी, दिल्ली में डेरा डाला; CM डैमेज कंट्रोल में जुटे
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 01 Aug 2022 01:59 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में बीएसपी से कांग्रेस में आए विधायकों की नाराजगी बढ़ती जा रही है। 6 में से 3 विधायक- राजेंद्र गुढ़ा, लाखन सिंह मीना, और संदीप यादव ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है।  दिल्ली में इन विधायकों की कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करने की संभावना जताई जा रही है। ये विधायक कई बार कह चुके हैं कि कांग्रेस आलाकमान से मिलवाने का वादा किया गया था लेकिन अब तक मुलाकात नहीं हो सकी है। इस नाराजगी की 2 वजह हैं। पहली ये कि कांग्रेस में आने के 2 साल बाद भी उन्हें कोई पद नहीं मिला है। दूसरी ये कि सब कुछ दांव पर लगाकर कांग्रेस में आए विधानसभा चुनाव में टिकट मिलेगा या नहीं यह भी पक्का नहीं है। हाल ही में सैनिक कल्याण मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने अपनी खुलकर नाराजगी जाहिर कर कहा था कि उन्हें कांग्रेस से समर्थन वापस लेने के बारे में सोचना पड़ेगा। कांग्रेस आलाकमान डैमेज कंट्रोल में जुट गया है।

वादें पूरे नहीं होने से नाराज

इन विधायकों की अगुवाई कर रहे राज्यमंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने हाल ही में कहा था कि हमसे जो वादे किए गए थे वह पूरे नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा था हमारे सभी साथियों को सरकार में मंत्री अथवा संसदीय सचिव बनाने का वादा किया गया था। लेकिन अब तक केवल मुझे मंत्री और दो विधायकों को बोर्ड-निगम का अध्यक्ष बनाया गया है। इनमें भी लाखन मीना को न तो अब तक गाड़ी मिली और न ही बैठने के लिए दफ्तर। इसके साथ ही इन गुढा ने कहा था कि अगर कमिटमेंट पूरे नहीं हुए तो सोचना पड़ेगा। भरतपुर के नगर से विधायक वाजिब अली ने तो खुलकर शिक्षामंत्री बीडी कल्ला पर नहीं सुनने का आरोप लगाया था। वाजिब अली ने कहा कि शिक्षामंत्री उनकी मांगों की अनदेखी कर रहे हैं। 

कांग्रेस डैमेज कंट्रोल में जुटी 

राजनीतिक गलियारों में इस बात की काफी चर्चा है कि ये विधायक वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करने के उद्देश्य से दिल्ली में डटे हुए हैं। अगर सबकुछ ठीक नहीं हुआ राजस्थान की राजनीति में कुछ नया घटने के आसार हैं? क्योंकि इन दिनों राजस्थान में मंत्रिमंडल फेरबदल की चर्चाओं ने भी जोर पकड़ रखा है। विधायकों के इस दिल्ली दौरे को राजनीतिक के जानकार प्रेशर पॉलिटिक्स का हिस्सा मान रहे हैं। मंत्री राजेंद्र गुढ़ा गहलोत सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं। मंत्री गुढ़ा ने हाल ही में कहा था कि हम कांग्रेस के कल्चर के नहीं है। बसपा विधायकों की नाराजगी के बाद कांग्रेस डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। गहलोत के रणनीतिकारों ने ​3 विधायकों की नाराजगी को देखते हुए उनकी मांगों पर चर्चा शुरू कर दी है। माना जा रहा है कि प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अजय माकन, सांसद रणदीप सुरजेवाला और मुकुल वासनिक से विधायकों की मुलाकात हो सकती है। 

epaper