DA Image
31 अक्तूबर, 2020|6:55|IST

अगली स्टोरी

राजस्थान में सियासी उठापटक जारी, विधायकों के टूटने की आशंका से होटल को किले में किया गया तब्दील

security of hotel legislators increased in rajasthan

राजस्थान में सियासी उठापटक के बीच गहलोत और पायलट खेमे में बंटी कांग्रेस में तीसरे दिन भी बाड़ाबंदी जारी है। सेंधमारी के डर से होटल फेयरमोंट को किले में तब्दील कर दिया गया है। गहलोत समर्थक विधायक कड़ी सुरक्षा में हैं। बिना इजाजत होटल से अंदर और बाहर जाने पर प्रतिबंध लगा हुआ है। 

कुछ विधायक बाहर आए लेकिन होटल के बाहर निकलने की अनुमति नहीं मिली। साथ ही बीजेपी और कांग्रेस दोनों तरफ से जमकर वार-पलटवार किए जा रहे हैं। आरोप लगाने और उनका खंडन करने का सिलसिला जारी है। गहलोत खेमे के विधायक और मंत्रियों की बाड़ाबंदी दिल्ली रोड पर कूकस स्थित फेयरमोंट लग्जरी होटल में की गई है। 

वहीं सचिन पायलट खेमे के विधायक एनसीआर इलाके में एक होटल में डेरा जमाए हुए हैं। गहलोत खेमा पायलट के अगले कदम का इंतजार कर रहा है। पायलट मीडिया के सामने आ सकते हैं। पूरे मामले में अब तक नपी तुली बात करने वाले सीएम गहलोत ने अब सचिन पायलट के खिलाफ सीधा मोर्चा खोल दिया है। 

बुधवार को उन्होंने पायलट पर जमकर हमला बोला तो कांग्रेस में खलबली मच गई। जानकारों के मुताबिक ऐसे हालात में पायलट का कांग्रेस में बने रहना मुश्किल है। इसी बीच केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि राजस्थान में लोकतंत्र की हत्या की कोशिश हुई है। विधायकों को जबरन अगवा कर बंधक बनाया गया। अब राजस्थान में बाड़ाबंदी कर सरकार चलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट के जाने से राजस्थान की गहलोत सरकार उलटी गिनती गिन रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rajasthan political crisis: Hotel security increased due to fear of MLA breakdown