ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजस्थान पुलिस ने 25 हजार  इनामी आतंकी मेराजुद्दीन को पकड़ा, 10 साल से फरार था

राजस्थान पुलिस ने 25 हजार  इनामी आतंकी मेराजुद्दीन को पकड़ा, 10 साल से फरार था

राजस्थान एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पुलिस मुख्यालय की टीम ने 25 हजार रुपये के इनामी आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया है। वह 10 साल से फरार चल रहा था। पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।

राजस्थान पुलिस ने 25 हजार  इनामी आतंकी मेराजुद्दीन को पकड़ा, 10 साल से फरार था
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 23 Feb 2024 03:18 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान पुलिस एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पुलिस मुख्यालय की टीम ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त रहे 25 हजार रुपये के इनामी आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन पुत्र मोहम्मद नियाजउद्दीन (31) निवासी वार्ड नंबर 18 बजरिया रेलवे स्टेशन थाना गंगापुर सिटी को पकड़ा है। जयपुर एटीएस की टीम को 10 सालों से इसकी तलाश थी।अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स एवं अपराध श्री दिनेश एमएन बताया कि साल 2014 में स्लीपर सेल द्वारा भारत के विभिन्न स्थानों पर आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देने की योजना थी। इस मामले में प्रदेश के सीकर, जोधपुर एवं जयपुर जिले से कुल 13 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था। जिनमें से 12 को कोर्ट द्वारा आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। 
      
एडीजी श्री एमएन ने बताया कि इस मामले में थाना एसओजी जयपुर में प्रकरण संख्या 3/2014 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम व विधि विरुद्ध क्रियाकलाप (निवारण) अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था। पकडा गया आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन घटना के वक्त से फरार चल रहा था। एटीएस-एसओजी एडीजी द्वारा 24 जनवरी 2018 को ₹25000 का इनाम घोषित किया गया था।  एमएन ने बताया कि आपराधिक गिरोह एवं गैंगस्टर की धरपकड़ अभियान के सफलता के लिए आईजी क्राइम प्रफुल्ल कुमार के पर्यवेक्षण एवं एजीटीएफ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विद्या प्रकाश के सुपरविजन तथा एसआई नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में एएसआई शैलेंद्र शर्मा, हेड कांस्टेबल शाहिद अली, कांस्टेबल रविंद्र सिंह, महेंद्र सिंह व बृजेश कुमार की टीम को आसूचना संकलन के लिए भरतपुर रेंज की ओर रवाना किया गया है।

मोहम्मद मेराजुद्दीन गंगापुर सिटी में पकड़ा गया 

गुरुवार को एजीटीएफ को सूचना मिली कि एटीएस से इनामी आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन गंगापुर सिटी आया हुआ है। सूचना पर टीम द्वारा आतंकी के निवास और आसपास के क्षेत्र में सघन निगरानी की। सूचना पुख्ता होने के बाद सीओ सिटी बाबूलाल बिश्नोई मय जाब्ता की मदद से बमुश्किल इसे पकड़ा गया। शुक्रवार को इसे अग्रिम कार्रवाई के लिए एटीएस टीम को सुपुर्द कर दिया गया है। एडीजी ने बताया कि आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन दिल्ली में ओखला स्थित मरकस, गुजरात एवं राजस्थान के विभिन्न जिलों में फरारी काट रहा था। प्रारंभिक पूछताछ में इसने बताया कि यह और इसके साथी इंडियन मुजाहिद्दिन एवं अन्य इस्लामी संगठनों से संपर्क में थे। साल 2014 में इनके द्वारा विभिन्न स्थानों पर आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की योजना थी, पर इससे पहले ही इनके साथी सुरक्षा एजेंसियो की गिरफ्त में आ गए थे।

राजस्थान एटीएस को सुपुर्द किया

एमएन ने बताया कि आतंकी मोहम्मद मेराजुद्दीन को राजस्थान एटीएस को सुपुर्द किया जा चुका है। अग्रिम कार्रवाई उनके द्वारा की जा रही है। अभियुक्त से पूछताछ की जा रही है जिसमें और भी खुलासे हो सकते हैं। एडीजी ने बताया कि इस संपूर्ण कार्रवाई में एजीटीएफ के एसआई नरेंद्र सिंह, एएसआई शैलेंद्र शर्मा, हेड कांस्टेबल शाहिद अली, कांस्टेबल रविंद्र सिंह, महेंद्र सिंह, बृजेश कुमार की विशेष भूमिका तथा एएसआई दुष्यंत सिंह एवं कांस्टेबल संजय का तकनीकी सहयोग रहा। साथ ही सीओ गंगापुर सिटी बाबूलाल बिश्नोई मय जाब्ता द्वारा सहयोगी की भूमिका निभाई।
              

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें