ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानकांग्रेस के उग्र प्रदर्शन के बाद पुलिस का एक्शन शुरू, डोटासरा सहित कई नेताओं पर FIR, कोटा पुलिस को दी थी धमकी

कांग्रेस के उग्र प्रदर्शन के बाद पुलिस का एक्शन शुरू, डोटासरा सहित कई नेताओं पर FIR, कोटा पुलिस को दी थी धमकी

नीट परीक्षा में हुई कथित गड़बड़ी, राजस्थान में कानून-व्यवस्था और अन्य मुद्दों को लेकर सोमवार को कोटा में किए गए कांग्रेस द्वारा हल्ला बोल उग्र प्रदर्शन मामले पर अब पुलिस ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है।

कांग्रेस के उग्र प्रदर्शन के बाद पुलिस का एक्शन शुरू, डोटासरा सहित कई नेताओं पर FIR, कोटा पुलिस को दी थी धमकी
Praveen Sharmaकोटा। लाइव हिन्दुस्तानTue, 25 Jun 2024 10:17 AM
ऐप पर पढ़ें

नीट परीक्षा में हुई कथित गड़बड़ी, राजस्थान में बिगड़ती कानून-व्यवस्था और अन्य मुद्दों को लेकर सोमवार को कोटा में किए गए कांग्रेस द्वारा हल्ला बोल उग्र प्रदर्शन मामले पर अब पुलिस ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है। कोटा पुलिस ने इस मामले में पीसीसी चीफ, नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली, पूर्व मंत्री अशोक चांदना, कांग्रेस नेता प्रहलाद गुंजल सहित कई कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर दो मुकदमे दर्ज किए हैं। इनमें से एक मुकदमे में पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा और अन्य कांग्रेसी नेताओं को आरोपी बनाया गया है, जबकि दूसरे मुकदमे में कांग्रेस नेता प्रहलाद गुंजल को आरोपी बनाया गया है। कांग्रेस नेताओं पर कथित तौर पर भीड़ को उकसाने, गलत बयानबाजी करने, बैरिकेड तोड़कर कलेक्टरेट में घुसने का प्रयास करने का आरोप है।

सीआईडी सीबी को सौंपी जाएगी जांच

कोटा सिटी एसपी डॉ. अमृता दुहन ने बताया कि सोमवार को कांग्रेस द्वारा किए प्रदर्शन की वीडियोग्राफी कराई गई थी। इसमें कांग्रेस नेताओं ने उग्र प्रदर्शन किया, जिसमें पुलिस से टकराव की स्थिति भी बन गई थी। इस मामले में पुलिस अधिकारियों की शिकायत पर ही कांग्रेस नेताओं के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए हैं। नयापुरा थाना पुलिस ने दर्ज मुकदमे में पीसीसी अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली, पूर्व मंत्री व हिंडोली विधायक अशोक चांदना, पीपल्दा विधायक चेतन पटेल, केशोरायपाटन विधायक सीएल प्रेमी और कोटा देहात जिला अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह आरोपी है। यह रिपोर्ट नयापुरा थाना अधिकारी लक्ष्मी चंद वर्मा की शिकायत पर दर्ज हुई है। बैरिकेट तोड़कर अंदर घुसने की कोशिश करने के दौरान पुलिस ने इन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन वो नहीं माने। इस मामले में पुलिस से धक्का-मुक्की, गाली-गलौज और राज कार्य में बाधा का आरोप लगाया है। ऐसे में मामले की जांच-पड़ताल सीआईडी सीबी जयपुर को सौंपी जाएगी।

छीनाझपटी, मारपीट का दूसरा मुकदमा दर्ज

पुलिस उपाधीक्षक द्वितीय राजेश सोनी ने बताया कि दूसरे मामले में हेड कॉन्स्टेबल शेर सिंह ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है, जिसमें कांग्रेस नेता प्रहलाद गुंजल, भानू प्रताप सहित 16 नाम और शेष अन्य आरोपी हैं। हेड कॉन्स्टेबल शेर सिंह ने अपनी शिकायत में बताया कि वो अंबेडकर मूर्ति के नजदीक कलेक्ट्रेट चौराहे पर ड्यूटी कर रहा था। इस दौरान कांग्रेस नेता प्रदर्शन करते हुए आए और उसके साथ छीना-झपटी और मारपीट की और उसे मुक्के मारे हैं। इसके चलते उसे काफी दर्द हो रहा है। इस मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है और शेर सिंह का मेडिकल करवाया जाएगा। यह जांच नयापुरा थाना पुलिस ही करेगी।

कांग्रेस नेताओं ने अपने संबोधन में पुलिस को धमकाया

आपको बता दें कि, सोमवार को कोटा में कांग्रेस द्वारा किए गए प्रदर्शन से पहले सर्किट हाउस रोड पर सभा का आयोजन किया गया था। इसमें पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा और अन्य कांग्रेस के नेताओं ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, शिक्षा मंत्री सहित कई भाजपा के बड़े नेताओं पर जुबानी हमले कर संगीन आरोप लगाए थे। इसके साथ ही पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कोटा पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए रेंज के आईजी को अपशब्द कहे थे। साथ ही कोटा पुलिस की छवि खराब करने की कोशिश की गई। डोटासरा ने यह भी कहा था कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस अत्याचार बंद करें नहीं तो उन्हें घुटनों पर चलने पर मजबूर कर दिया जाएगा।