ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानRajasthan: भरतपुर में कांग्रेस को घेर रही बीजेपी जालौर में खुद घिर गई, डोटासरा बोले- भाजपा विधायक ने संत को प्रताड़ित किया

Rajasthan: भरतपुर में कांग्रेस को घेर रही बीजेपी जालौर में खुद घिर गई, डोटासरा बोले- भाजपा विधायक ने संत को प्रताड़ित किया

राजस्थान के जालौर जिले में संत रविदास आत्महत्या मामले में कांग्रेस भाजपा पर हमलावर हो गई है। भाजपा विधायक पर उकसाने के आरोप लगने पर पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने भाजपा पर निशाना साधा है।

Rajasthan: भरतपुर में कांग्रेस को घेर रही बीजेपी जालौर में खुद घिर गई, डोटासरा बोले- भाजपा विधायक ने संत को प्रताड़ित किया
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 06 Aug 2022 05:31 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के जालौर जिले में संत रविदास आत्महत्या मामले में कांग्रेस भाजपा पर हमलावर हो गई है। भाजपा विधायक पूराराम पर संत को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि ये आत्महत्या नहीं है। भाजपा विधायक ने आश्रम के रास्ते खाई खोदकर संत को प्रताड़िता किया और उन्हें मजबूर किया। सरकार किसी दोषी को नहीं छोड़ेगी। भाजपा के लिए सियासी धर्म सिर्फ शोर शराबा है। हाल ही में अवैध खनन की मांग को लेकर भरतपुर में आत्मदाह करने वाले संत विजयदास महाराज के मामले में भाजपा नेता कांग्रेस पर हमलावर हो गए थे, लेकिन फिलहाल संत रविदास मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया की प्रतिक्रिया नहीं आई है। कांग्रेस नेता इसे सियासी मुद्दा बनकार भाजपा को घेरने की रणनीति बना रहे हैं।  

उल्लेखनीय है कि जालौर में कथित तौर पर भाजपा विधायक से प्रताड़ित होकर सुसाइड कर लिया था। पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है। संत रविदास के भतीजे ने थाने में भाजपा विधायक पूराराम चौधरी और उनके ड्राइवर समेत अन्य लोगों पर मामला दर्ज कराया है। रिपोर्ट में आरोप लगाया है कि भीनमाल विधायका पूराराम चौधरी और उनके समर्थक जेसीबी लेकर आए और गाली-गलौज करने लगे। रास्ता बंद कर दिया। हालांकि, विधायक ने आरोपों के बेबुनियाद बताया है। 

संत ने पेड़ पर लटककर कर ली थी आत्महत्या

जालौर जिले  के जसवंतपुरा क्षेत्र के सुंधा तलहटी के पास राजपुरा गांव में संत रविनाथ महाराज ने गुरुवार देर रात पेड़ पर लटक कर आत्महत्या कर ली थी। घटना की जानकारी मिलने के बाद जसवंतपुरा पुलिस और प्रशासन मौके पर पहुंचा। करीब 12 घंटे तक संत का शव पेड़ पर लटका रहा। परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। हालांकि, बाद में पुलिस के समझाने पर शव को पेड़ से उतार लिया गया। इस घटना की जानकारी दलित समुदाय में आक्रोश है। जानकारी के अनुसार बीते दिनों भीनमाल के विधायक पूराराम चौधरी और व संत रविदास के बीच किसी बात को लेकर बहस हुई थी। उसके बाद आत्महत्या का मामला सामने आया है। ऐसे में दलित समुदाय में आक्रोश व्याप्त है। इस सुसाइड नोट में जमीन को लेकर भीनमाल से भाजपा विधायक पूराराम चौधरी पर परेशान करने के आरोप लगाए गए हैं।

भाजपा विधायक ने आरोपों से किया इंकार

भीनमाल विधायक पूराराम चौधरी ने अपने ऊपर लगाए जा रहे आरोपों से इंकार किया है। मीडिया से बात करते हुए विधायक ने कहा कि मैं संतों को प्रताड़ित करता तो पृथ्वी हिल जाती. यह हत्या है। मैं साधु संतों की सेवा करने वाला आदमी हूं। आरोप तो भगवान कृष्ण पर भी लगे थे। मैं तो कह रहा हूं यह आत्महत्या नहीं, हत्या है। पूरे मामले की जांच होनी चाहिए और संत को न्याय मिलना चाहिए। 

epaper