ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानराजस्थान में सभी मेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद, भीषण लू के चलते फैसला, 24 घंटे चालू रहेंगे कंट्रोल रूम

राजस्थान में सभी मेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद, भीषण लू के चलते फैसला, 24 घंटे चालू रहेंगे कंट्रोल रूम

राजस्थान में भीषण गर्मी और लू चलने का रेड अलर्ट है। राज्य में भीषण गर्मी को देखते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश में सभी चिकित्सा कार्मिकों की छुट्टियां निरस्त कर दी हैं।

राजस्थान में सभी मेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद, भीषण लू के चलते फैसला, 24 घंटे चालू रहेंगे कंट्रोल रूम
Krishna Singhभाषा-वार्ता,जयपुरTue, 21 May 2024 10:49 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में भीषण गर्मी और लू चलने का रेड अलर्ट जारी किया गया है। सूबे में भीषण लू की स्थितियों को देखते हुए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश में सभी चिकित्सा कार्मिकों की छुट्टियां निरस्त कर दी हैं। सभी मेडिकल स्टाफ को मुख्यालय पर ही रहने का निर्देश जारी किया गया है। विभाग की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि मेडिकल स्टाफ विशेष परिस्थितियों में ही उपयुक्त अधिकारियों की मंजूरी के बाद ही अवकाश पर जा सकेंगे। यही नहीं छुट्टियां मंजूर होने की जानकारी चिकित्सा निदेशालय को देनी होगी। 

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य निदेशालय के परिपत्र के अनुसार, डॉक्टरों, नर्सिंग एवं पैरामेडिकल स्टाफ के अवकाश निरस्त कर उन्हें लू से बचाव एवं उपचार के लिए जरूरी प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ. रवि प्रकाश माथुर ने बताया कि आदेश हैं कि चिकित्सा सेवाओं से संबंधित कार्यालयों में कंट्रोल रूम 24 घंटे चालू रहेंगे। सभी चिकित्सा संस्थानों में हीट वेभ के मरीजों के लिए बेड आरक्षित रखने, जरूरी दवाएं और जांच सुविधाएं आदि की उपलब्धता बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं।

मेडिकल स्टाफ से अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में बर्फ पैक रखने को भी कहा गया है। सभी चिकित्साकर्मियों के अवकाश निरस्त कर मुख्यालय पर ही रहने के लिए पाबंद किया गया है। जारी सर्कुलर में यह भी कहा गया है कि अस्पतालों को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि एम्बुलेंस में एसी चालू हालत में हों। साथ ही इमरजेंसी की स्थितियों में जरूरी दवाएं एवं उपकरण उपलब्ध हों। अस्पतालों में पानी और बिजली की सुचारू आपूर्ति रखने के भी निर्देश दिए गए हैं। 

लोगों से कहा गया है कि इमरजेंसी की स्थिति में वे टोल फ्री नंबर 108, 104 और हेल्पलाइन नंबर 1070 पर भी संपर्क कर सकते हैं। इन हेल्पलाइन नंबर का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए गए हैं। अस्पतालों को सुनिश्चित करना होगा कि इमरजेंसी वार्ड में लोगों के इलाज के लिए जरूरी दवाएं एवं उपकरण उपलब्ध हों। आशा कार्यकर्ताओं को लू- तापघात से संबंधित आईईसी गतिविधियां कर लोगों को गर्मी एवं लू से बचाव के लिए जागरूक करने के निर्देश भी जारी किए गए हैं।