ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजस्थान विधानसभा में महिला विधायकों की संख्या घटी, किस पार्टी की कितनी नेत्रियों ने मारा मैदान

राजस्थान विधानसभा में महिला विधायकों की संख्या घटी, किस पार्टी की कितनी नेत्रियों ने मारा मैदान

Rajasthan Assembly Elections Result 2023: राजस्थान विधानसभा में इस बार पहले की तुलना में कम महिला विधायक पहुंची हैं। किस पार्टी की कितनी नेत्रियों ने मारा मैदान इस रिपोर्ट में जानें...

राजस्थान विधानसभा में महिला विधायकों की संख्या घटी, किस पार्टी की कितनी नेत्रियों ने मारा मैदान
Krishna Singhभाषा,जयपुरMon, 04 Dec 2023 12:24 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में विधानसभा चुनाव में मतदाताओं ने हर पांच साल में सरकार बदलने का रिवाज कायम रखते हुए सरकार को बदल दिया है। राजस्थान की 200 सीटों वाली विधानसभा में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिल गया है। विधानसभा की 199 सीटों पर हुए मतदान के वोटों की गिनती रविवार को हुई। इसमें भाजपा ने 115 सीटों पर जीत दर्ज की। कांग्रेस 69 सीटों पर सिमट गई। 68 सीटों पर उसके उम्मीदवार जीत चुके हैं जबकि एक पर आगे है। आठ निर्दलीय जीत चुके हैं, तीन सीटों पर भारत आदिवासी पार्टी के उम्मीदवार जीते हैं। दो सीटें बसपा के खाते में गई हैं।

हालांकि राजस्थान की 16वीं विधानसभा में महिला विधायकों की संख्या घटकर 20 रह गई है जो पूर्व में 23 थी। इस बार के विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस दोनों की नौ-नौ महिला उम्मीदवार जीती हैं। इसके अलावा दो निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी सदन में जगह बनाई है।

इस विधानसभा चुनाव में जीतीं कांग्रेस की नौ महिला उम्मीदवारों में शिमला देवी (अनूपगढ़), सुशीला डूडी (नोखा), रीटा चौधरी (मंडावा), शिखा मील बराला (चौमूं), शोभारानी कुशवाह (धौलपुर), अनिता जाटव (हिंडौन), इंद्रा (बामनवास), गीता बरवार (भोपालगढ़), रमिला खड़िया (कुशलगढ़) शामिल हैं।

भाजपा की नौ महिला विधायकों में दीया कुमारी (विद्याधर नगर), अनिता भदेल (अजमेर दक्षिण), मंजू बाघमार (जायल), शोभा चौहान (सोजत), दीप्ति किरण माहेश्वरी (राजसमंद), कल्पना देवी (लाडपुरा), वसुंधरा राजे (झालरापाटन), सिद्धि कुमारी (बीकानेर पूर्व), नौक्षम चौधरी (कामां) शामिल हैं।

चुनाव में निर्दलीय के रूप में जीत हासिल करने वाली अन्य दो महिला विधायक रितु बनावत (बयाना) तथा प्रियंका चौधरी (बाड़मेर) हैं। राजस्थान विधानसभा चुनाव-2023 में 50 महिला उम्मीदवार मैदान में थीं, जिनमें 20 भाजपा, 28 कांग्रेस और दो निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं। हालांकि, मुख्य राजनीतिक दलों की केवल 18 महिलाएं ही चुनाव जीत सकीं।

2018 के चुनावों में, भाजपा ने 23 और कांग्रेस ने 27 महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था। कांग्रेस की 12, भाजपा की 10 और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) की एक उम्मीदवार और एक स्वतंत्र महिला उम्मीदवार ने चुनाव जीता था। राज्य में कुल सीटें 200 हैं लेकिन मतदान से पहले उम्मीदवारों की मृत्यु के कारण 2023 और 2018 के विधानसभा चुनाव में 199 सीटों पर चुनाव हुआ। 2018 में, रामगढ़ सीट पर बाद में चुनाव हुआ जहां सफिया जुबेर जीती और विधानसभा में महिला विधायकों की कुल संख्या 24 हो गई।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें