ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानRajasthan Election: वसुंधरा राजे का रिटायरमेंट वाला बयान, रणनीति या नाराजगी; ये वजह जानिए

Rajasthan Election: वसुंधरा राजे का रिटायरमेंट वाला बयान, रणनीति या नाराजगी; ये वजह जानिए

राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने चुनावी माहौल के बीच बड़ा बयान दिया है। राजे का कहना है कि उन्हें राजनीति से रिटायरमेंट हो जाना चाहिए। सियासी जानकार वसुंधरा के बयान के सियासी मायने निकाल रहे है।

Rajasthan Election: वसुंधरा राजे का रिटायरमेंट वाला बयान, रणनीति या नाराजगी; ये वजह जानिए
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSat, 04 Nov 2023 05:20 AM
ऐप पर पढ़ें

Rajasthan Election 2023: राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने चुनावी माहौल के बीच बड़ा बयान दिया है। पूर्व सीएम ने एक जनप्रतिनिधि के तौर पर अपने बेटे व सांसद दुष्यंत राजे की प्रगति का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि वह अब रिटायर हो सकती हैं। सियासी जानकार वसुंधरा राजे के बयान के अलग-अलग मायने निकाल रहे हैं। जानकारों का कहना है कि वसुंधरा राजे ने सोच समझी रणनीति के तहत यह बयान दिया है। राजस्थान में इस बार बीजेपी ने वसुंधरा राजे को सीएम फेस घोषित नहीं किया है। इसे लेकर वसुंधरा राजे और उनके समर्थक नाराज है। माना यही जा रहा है कि वसुधरा राजे ने बीजेपी आलकमान पर दबाव बनाने के लिए यह बयान दिया है। 

वसुंधरा राजे के नारजागी की वजह 

राजस्थान में बीजेपी इस बार बिना सीए फेस के ही चुनाव लड़ रही है। वसुंधरा राजे समर्थकों की तमाम कोशिशों के बावजूद भी पूर्व सीएम को सीएम फेस घोषित नहीं किया है। सियासी जानकारों का कहना है कि वसुंधरा राजे नाराज है। दूसरी वजह यह बताई जा रही है कि बीजेपी ने इस बार वसुंधरा राजे के कट्टर समर्थकों को टिकट नहीं दिया है। पूर्व मंत्री राजपाल सिंह शेखावत, यूनुस खान और कृष्णेंद्र कौर दीपा का टिकट काट दिया है। इससे नाराज बताई जा रही है। सियासी जानकारों का यह भी कहना है कि चुनाव से पहले वसुंधरा राजे ने पार्टी आलकमान पर दबाव बनाने के लिए यह बयान दिया है। हालांकि, बीजेपी ने दूसरी और तीसरी सूची में वसुंधरा राजे के समर्थकों को बंपर टिकट भी दिए है। इसके बावजूद वह नाराज बताई जा रही है।बता दें वसुंधरा राजे इस बार भी अपनी परंपरागत सीट झालरापाटन से ही चुनाव लड़ रही है। पूर्व मुख्यमंत्री ने एक जनसभा में यह बयान दिया, जिसे उनके बेटे और झालावाड़-बारण सीट से लोकसभा सांसद दुष्यंत ने भी संबोधित किया। बीते कुछ महीने से बीजेपी के चुनाव जीतने की सूरत में पांच बार की सांसद और चार बार की विधायक वसुंधरा की भूमिका को लेकर अटकलों का दौर जारी है। 

'अब मैं रिटायर हो सकती हूं'

वसुंधरा राजे आज नामांकन दाखिल करेंगी। लेकिन उनके बयान से सियासी पारा चढ़ा हुआ है। जनसभा में वसुंधरा ने बीते तीन दशक में क्षेत्र में हुए विकास कार्यों को रेखांकित करते हुए सड़कों, जलापूर्ति परियोजनाओं और वायु व रेल कनेक्टिविटी का उल्लेख किया। बीजेपी की वरिष्ठ नेता ने कहा कि आज लोग पूछ रहे हैं कि झालावाड़ कहां है। लोग यहां निवेश करना चाहते हैं। वसुंधरा ने कहा कि बेटे का भाषण सुनने के बाद उन्हें लगता है कि वह रिटायर हो सकती हैं। उन्होंने कहा कि मुझे लग रहा है कि अब मैं रिटायर हो सकती हूं। वसुंधरा ने कहा कि लोगों ने 'सांसद साहब' (दुष्यंत राजे) को सही प्रशिक्षण और स्नेह दिया है। उन्हें सही रास्ते पर रखा है। उन्होंने कहा कि उन्हें दुष्यंत के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है। बता दें इससे पहले बीजेपी के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने इशारों में ही वसुंधरा राजे को रिटायरमेंट लेने की बात कही थी। पूनिया ने 70 साल की आयु में राजनीति से रिटायरमेंट होने की सलाह दी थी।


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें