ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानRajasthan Election: राजस्थान में कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत सिंह कुन्नर का निधन, चुनाव टला

Rajasthan Election: राजस्थान में कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत सिंह कुन्नर का निधन, चुनाव टला

राजस्थान विधानसभा चुनाव में श्रीगंगानगर जिले के करणपुर से कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत सिंह कन्नूर का निधन हो गया है। वह दिल्ली के एम्स में भर्ती थे। काफी समय से बीमार चल रहे थे। चुनाव टल सकता है।

Rajasthan Election: राजस्थान में कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत सिंह कुन्नर का निधन, चुनाव टला
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरWed, 15 Nov 2023 10:24 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान विधानसभा चुनाव में श्रीगंगानगर जिले के करणपुर से कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत सिंह कन्नूर का निधन हो गया है। वह दिल्ली के एम्स में भर्ती थे। काफी समय से बीमार चल रहे थे। उनके निधन से कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। माना जा रहा है कि प्रदेश में 199 विधानसभा सीटों पर चुनाव होंगे। चुनाव के बाद आयोग उप चुनाव की घोषणा कर सकता है। कुन्नर श्रीगंगानगर के करणपुर से विधायक और कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत थे।  गुरमीत सिंह कुन्नर का दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा था। इसी दौरान मंगलवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। उल्लेखनीय है कि गुरमीत सिंह कुन्नर को किडनी में तकलीफ के चलते एम्स दिल्ली एम्स के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। पिछली सरकार के दौरान कुन्नर ने निर्दलीय चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी और मंत्री भी बने थे। साल 2023 के विधानसभा चुनाव में गुरमीत सिंह कुंवर ने कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल किया था। उनका मुकाबला भाजपा के उम्मीदवार सुरेंद्र पाल सिंह टीटी से था। 

राजस्थान विधानसभा में 99 का फेर

राजस्थान विधानसभा एक बार फिर 99 का फेर में फंस गई। 2013, 2018 में भी 199 सीटें ही रह गई थी।  2023 में कांग्रेस के सात बार के विधायक भंवरलाल शर्मा के रविवार को निधन के बाद राजस्थान विधानसभा एक बार फिर 199 के फेर में फंस गई थी। राजस्थान विधानसभा को लेकर मिथक बना हुआ है कि यहां कभी भी एक साथ 200 सदस्य नहीं बैठते हैं, अब कांग्रेस के उम्मीदवार के निधन से एक बार फिर चर्चाएं चल पड़ी है। 

1998 में कांग्रेस के टिकट से पहली बार पहुंचे थे विधानसभा 

गौरतलब है गुरमीत सिंह कुन्नर का जन्म श्रीगंगानगर जिले के पदमपुर कस्बे के नजदीक गांव 25 बीबी में हुआ। कक्षा 12 तक शिक्षित विधायक गुरमीत सिंह पहली बार 1998 में कांग्रेस के टिकट से जीतकर विधानसभा पहुंचे इसके बाद 2008 में निर्दलीय रूप में जीते और 2018 में एक बार फिर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते। गुरमीत सिंह कुन्नर ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 1980 में सरपंच पद से शुरू की थी।1988 में वे पंचायत समिति पदमपुर के प्रधान बने और 1995 में उप जिला प्रमुख भी बने। इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने उन्हें अपना एक बार फिर से प्रत्याशी बनाया था। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें