ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानराजस्थान से बच्चों का अपहरण कर मदारी के खेल में बनाते थे जमूरा, हरियाणा के गिरोह का भंडाफोड़

राजस्थान से बच्चों का अपहरण कर मदारी के खेल में बनाते थे जमूरा, हरियाणा के गिरोह का भंडाफोड़

राजस्थान की कोटा पुलिस ने हरियाणा के एक ऐसे गिरोह का भंडफोड़ किया है जो बच्चों का अपहरण कर उनका इस्तेमाल मदारी के खेल में करता था। पुलिस ने एक 4 साल के बच्चे को बरामद किया है। पढ़ें यह रिपोर्ट...

राजस्थान से बच्चों का अपहरण कर मदारी के खेल में बनाते थे जमूरा, हरियाणा के गिरोह का भंडाफोड़
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,कोटाTue, 14 May 2024 04:08 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान पुलिस ने हरियाणा के एक ऐसे गिरोह का भंडफोड़ किया है जो बच्चों का अपहरण कर उनका मदारी के खेल में इस्तेमाल करते थे। इस गैंग में एक महिला भी शामिल है। सभी आरोपी हरियाणा के भिवाडी से हैं। पुलिस आरोपियों को लेकर जयपुर से कोटा के लिए रवाना हो गई है। इसके साथ ही पुलिस ने कोटा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से अपहरण किए गए एक 4 साल के बच्चे को जयपुर से बरामद किया है। 

बच्चे का अपहरण कर ढाबे पर गुजारी रात
पुलिस ने बताया कि कोटा रेलवे स्टेशन से बच्चे के अपहरण की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने सभी रास्तों पर लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। पुलिस को इस जांच में कई जगहों से लीड मिली। बच्चे का अपहरण करने के बाद बदमाशों ने कोटा शहर के बाहरी इलाके में एक ढाबे पर रात गुजारी। पुलिस ने ढाबा संचालक और अन्य लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि अपहरणकर्ता बच्चे को लेकर भोपाल गए थे वहां से वापस जयपुर पहुंच हैं। 

राजस्थान से बच्चों का करते थे अपहरण
इस बीच एक मुखबिर ने जानकारी दी कि जयपुर के विद्याधर नगर इलाके की भट्टा बस्ती में बच्चे को रखा गया है। पुलिस ने दबिश दी और बच्चे को बरामद कर लिया। पुलिस ने मुकेश मदारी, कर्ण मदारी, अर्जुन मदारी, प्रेम मदारी और लज्जों नाम के आरोपियों को मौके से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उनकी गैंग हरियाणा की है और राजस्थान से बच्चों का अपहरण करती है। 

बच्चों से भीख भी मंगवाते थे आरोपी
यह गैंग कई बच्चों का अपहरण कर चुकी है। पुलिस को मौके से एक और बच्चा मिला। गैंग ने करीब 10 साल पहले भी एक बच्चे का अपहरण किया था। इस बच्चे से भीख मंगवाई जाती थी। आरोपी बच्चों को मदारी के खेल में जमूरे के तौर पर इस्तेमाल करते थे। आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया है कि कोटा से अपहरण किए गए बच्चे को जमूरा बनाने की योजना थी। 

गैंग तक ऐसे पहुंची पुलिस
बताया जाता है कि कोटा ग्रामीण के कैथून जालखेडा निवासी बेटे के साथ 5 मई को फिरोजाबाद जाने के लिए कोटा रेलवे स्टेशन पर पहुंचे थे। वह टिकट लेने के लिए लाइन में लगे और बेटे को पास कुर्सी पर बैठा दिया था। रात करीब 9.30 बजे वह टिकट लेकर आए तो बेटा गायब था। उन्होंने पुलिस में शिकायत दी। सीसीटीवी फुटेज में बच्चा दो युवकों के साथ जाता दिखा था। दोनों युवक भीमगंजमंडी होते हुए निकल थे। इन्हीं बच्चा चोरों की तलाश करते हुए पुलिस गैंग तक पहुंची।

रिपोर्ट- योगेन्द्र महावर