ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानIAS सुधांश पंत राजस्थान के नए मुख्य सचिव, आदेश जारी; CM भजनलाल शर्मा से मिले

IAS सुधांश पंत राजस्थान के नए मुख्य सचिव, आदेश जारी; CM भजनलाल शर्मा से मिले

राजस्थान को नए साल की पूर्व संध्या से पहले नया मुख्य सचिव मिल गया है। वरिष्ठ आईएएस सुधांश पंत नए मुख्य सचिव होंगे। कार्मिक विभाग ने आदेश जारी कर दिए है। पंत कई जिलों में कलेक्टर रहे हैं।

IAS सुधांश पंत राजस्थान के नए मुख्य सचिव, आदेश जारी; CM भजनलाल शर्मा से मिले
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरSun, 31 Dec 2023 10:06 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान को नए साल की पूर्व संध्या से पहले नया मुख्य सचिव मिल गया है। वरिष्ठ आईएएस सुधांश पंत नए मुख्य सचिव होंगे। कार्मिक विभाग ने आदेश जारी कर दिए है। नए मुख्य सचिव मुख्यमंत्री निवास OTS पहुंचे और सीएम भजनलाल शर्मा से मुलाकात की। मुख्य सचिव की मुख्यमंत्री के साथ पहली शिष्टाचार भेंट है।  इस दौरान निर्वतमान मुख्य सचिव श्रीमती उषा शर्मा भी मौजूद रहीं। पंत को केंद्र सरकार ने रिलीव कर दिया है। राजस्थान कैडर के आईएएस अधिकारी पंत मोदी के पसंदीदा अफसर माने जाते है। गहलोत सरकार में जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव थे। बाड़मेर समेत कई जिलों के कलेक्टर रह चुके है। कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी संभाली थी। राजस्थान कैडर के  1991 बैच के आईएएस अधिकारी सुधांश पंत मुख्य सचिव होंगे। पंत उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के रहने वाले हैं। पंत राजस्थान में विभिन्न पदों पर रहे है। पिछली गहलोत सरकार में विभिन्न पदों पर रहे। लेकिन बाद में सेंट्रल डेप्युटेशन पर दिल्ली चले गए थे।

वरिष्ठता में 7वें नंबर पर 

1991 बैच के IAS सुधांश पंत वरिष्ठता में 7वें नंबर पर हैं। उनसे ऊपर पहले नंबर पर मौजूदा सीएस उषा शर्मा हैं, जिनके कार्यकाल का शनिवार को अंतिम दिन था। दूसरे नंबर पर 88 बैच के डॉक्टर सुबोध अग्रवाल है। उसके बाद तीसरे नंबर पर 89 बैच के वी. श्रीनिवास निवास हैं, जो मौजूदा समय में दिल्ली में प्रतिनियुक्ति पर हैं। चौथे नंबर पर 89 बैच की शुभ्रा सिंह हैं। पांचवें नंबर पर 89 बैच के राजेश्वर सिंह हैं। छठे नंबर पर 89 बैच के रोहित कुमार सिंह जो दिल्ली में प्रतिनिधि पर है। उसके बाद सातवें नंबर पर 90 बैच के संजय मल्होत्रा हैं, वह भी दिल्ली में प्रतिनियुक्ति पर सेवाएं दे रहे हैं। 

विभिन्न जिलों के कलेक्टर रहे हैं 

पंत 1993 में जयपुर में एसडीएम रहे है। उसके बाद जैसलमेर कलक्टर रहे. झुंझुनूं, भीलवाड़ा, जयपुर में कलक्टर रह चुके हैं। जेडीए के कमिश्नर भी रहे हैं।राजस्थान के कॄषि विभाग के कमिश्नर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग दिल्ली में संयुक्त सचिव रहे हैं। राजस्थान सरकार में वन पर्यवारण विभाग में प्रिंसिपल सचिव रहे हैं। राजस्थान के प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन रहे हैं। रिलीव होने से पहले भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय में सचिव के पद पर काम कर रहे थे। 

रेस में ये दावेदार थे 

राजस्थान में मुख्य सचिव ऊषा शर्मा सेवानिवृत्त हो गई है। 31 दिसंबर तक ही उनका कार्यकाल था। ऊषा शर्मा भी यूपी की रहने वाली थी। ऊषा शर्मा के बाद एक बार फिर ब्राह्मण को मुख्य सचिव बनाया गया है। माना जा रहा है कि पंत की नियुक्ति जातिगत समीकरण साधने के लिए की गई है। पंत के अलावा आईएएस सुबोध अग्रवाल, राजेश्वर सिंह, संजय मल्होत्रा और शुभ्रा सिंह मुख्य सचिव की प्रमुख दावेदार थी। लेकिन शुभ्रा सिंह पिछड़ गई है। पंत को राजस्थान सरकार से 2000, 2001, 2002, 2003, 2004 में अवार्ड मिल चुका है। माना जा रहा है कि राजस्थान की वित्तीय व्यवस्थाओं का पंत को बेहतर अनुभव है उसका लाभ यहां सरकार लेना चाहती है। इनसे 6 वरिष्ठ अधिकारियों को पीछे छोड़ा गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें