ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजस्थान में रिकॉर्ड 74% से ज्यादा मतदान, अब नतीजों का इंतजार, किस जिले में सबसे ज्यादा वोटिंग?

राजस्थान में रिकॉर्ड 74% से ज्यादा मतदान, अब नतीजों का इंतजार, किस जिले में सबसे ज्यादा वोटिंग?

Rajasthan Assembly Elections Voting 2023: राजस्थान में विधानसभा की 199 सीट के लिए शनिवार को 74 प्रतिशत से ज्यादा मतदान दर्ज किया गया। कांग्रेस और BJP दोनों ने अपनी अपनी जीत के दावे किए हैं।

राजस्थान में रिकॉर्ड 74% से ज्यादा मतदान, अब नतीजों का इंतजार, किस जिले में सबसे ज्यादा वोटिंग?
Krishna Singhभाषा,जयपुरSun, 26 Nov 2023 01:03 AM
ऐप पर पढ़ें

Rajasthan Assembly Elections Voting 2023: राजस्थान में शनिवार को हिंसा की कुछ छिटपुट घटनाओं के बीच 74 प्रतिशत से अधिक मतदान रिकॉर्ड किया गया। शाम छह बजे अंतिम रिपोर्ट आने तक अंतरिम मत प्रतिशत 74.96 था। 199 विधानसभा क्षेत्रों में 51 हजार से अधिक मतदान केंद्रों पर मतदान सुबह 7 बजे शुरू हुआ और शाम 6 बजे समाप्त हुआ, लेकिन मतदान केंद्रों पर पहले से ही कतार में खड़े लोगों को वोट देने की अनुमति दी गई। चुनाव आयोग ने बताया कि फॉर्म 17ए की जांच के बाद रविवार 26 नवंबर तक ही अंतिम मतदान प्रतिशत के आंकड़े प्राप्त हो सकेंगे। 

जैसलमेर जिले में सबसे अधिक मतदान
वोटों की गिनती 3 दिसंबर को होगी। सबसे अधिक मतदान जैसलमेर जिले में और उसके बाद हनुमानगढ़ और धौलपुर जिलों में मतदान हुआ। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया था कि अंतिम मत प्रतिशत सारे आंकड़े मिल जाने के बाद ही जारी किये जाएंगे। अधिकारियों के अनुसार, हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा।

2018 में हुआ था 74.06 प्रतिशत मतदान
राज्य में मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच है। दोनों ही दलों के नेताओं ने अपनी-अपनी पार्टी को जनादेश मिलने की उम्मीद जताई है। अधिकारियों के अनुसार, हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा। साल 2018 के विधानसभा चुनाव में राज्य में कुल मतदान प्रतिशत 74.06 प्रतिशत रहा था।

कांग्रेस-भाजपा दोनों ने किए अपनी-अपनी जीत के दावे
कांग्रेस और भाजपा के नेताओं ने दिन में मीडिया से बातचीत में विश्वास जताया कि उनकी पार्टी को जनादेश मिलेगा। मुख्यमंत्री गहलोत ने जोधपुर में कहा कि कांग्रेस के खिलाफ कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं है और पार्टी राज्य में फिर से सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा- ऐसा लगता है कि कोई 'अंडरकरंट' है। ऐसा लगता है कि (कांग्रेस) सरकार दोबारा बनेगी।

वसुंधरा बोलीं- खिलेगा कमल
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने झालावाड़ में पत्रकारों से बातचीत में गहलोत के 'अंडरकरंट' वाले बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा- मैं उनसे सहमत हूं। वास्तव में एक 'अंडर करंट' है लेकिन यह भाजपा के पक्ष में है। तीन दिसंबर को कमल (भाजपा का चुनाव चिह्न) खिलेगा।

गजेंद्र सिंह शेखावत बोले- आ रही भाजपा
जोधपुर में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा- भाजपा भारी बहुमत के साथ सत्ता में आ रही है। इस बार लोग कांग्रेस के पांच साल के शासन के दौरान महिलाओं के खिलाफ हुए अपराध, पेपर लीक और भ्रष्टाचार को ध्यान में रखकर वोट करेंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और कई अन्य नेताओं ने राजस्थान के लोगों से बड़ी संख्या में मतदान करने की अपील की।

दिग्गजों ने डाले वोट
मतदान के दौरान राज्यपाल कलराज मिश्र, मुख्यमंत्री गहलोत, केंद्रीय मंत्री शेखावत और कैलाश चौधरी, पूर्व मुख्यमंत्री राजे और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी वोट डाले। गहलोत और शेखावत ने जोधपुर में, चौधरी ने बालोतरा में, राजे ने झालावाड़ में और पायलट ने जयपुर में वोट डाला। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी ने चित्तौड़गढ़ में अपने मताधिकार का प्रयोग किया और पार्टी सांसद दीया कुमारी तथा राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने जयपुर में मतदान किया।  

शाम पांच बजे तक 74.96% मतदान
अधिकारियों ने बताया कि सूबे में 74.96% मतदान रिकॉर्ड किया गया है। हालांकि अभी भी अनेक जगह मतदाता, बूथ परिसरों में हैं जिनके वोट डालने के बाद ही मत प्रतिशत का अंतिम आंकड़ा आएगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार छह बजे तक जो भी मतदाता बूथ परिसर में पहुंच गए उन सभी को वोट डालने की अनुमति होगी। हालांकि छह बजे के बाद किसी भी नए व्यक्ति को बूथ परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

हिंसा की छिटपुट घटनाएं
अधिकारियों ने कहा कि मतदान के दौरान जहां एक गांव में ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया, वहीं कुछ हिस्सों में विभिन्न उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच मामूली झड़प हुई। सिरोही जिले के पिंडवाड़ा आबू निर्वाचन क्षेत्र के चारवली गांव ने मतदान का बहिष्कार किया। एक अधिकारी ने कहा कि ग्रामीणों की मांग उनकी ग्राम पंचायत को बदलने और उनके गांव के पास राजमार्ग के किनारे एक 'सर्विस रोड' के निर्माण की है। गांव में 890 मतदाता हैं। अधिकारियों ने उन्हें वोट देने के लिए मनाने की कोशिश की।

पाली जिले में एजेंट की मौत
राजस्थान के पाली जिले में एक राजनीतिक दल के एजेंट की शनिवार को मौत हो गई। अधिकारियों के अनुसार, शांति लाल सुमेरपुर निर्वाचन क्षेत्र में बूथ संख्या 47 पर एक राजनीतिक पार्टी के एजेंट थे और वह वहीं गिर गए। उदयपुर के एक मतदान केन्द्र पर 62 वर्षीय मतदाता सत्येन्द्र अरोड़ा की दिल का दौरा पडने से मौत हो गई। अरोड़ा मतदान केंद्र पर गिर पड़े। परिवार के सदस्य उन्हें नजदीकी अस्पताल ले गए जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

फतेहपुर में दो गुटों में झड़प
इसी तरह सीकर के फतेहपुर में दो गुटों में झड़प के बाद पथराव हुआ। पुलिस ने बताया कि यह घटना एक मतदान केंद्र के पास हुई। थानाधिकारी इंद्राज सिंह ने बताया कि बूथ संख्या 128 पर दो पक्षों के बीच पत्थरबाजी में एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। 

बाड़ी सीट पर झड़प
धौलपुर की बाड़ी सीट पर दो उम्मीदवारों के समर्थकों के दो समूहों के बीच झड़प हुई। धौलपुर के जिलाधिकारी अनिल कुमार अग्रवाल ने कहा- एक चुनाव एजेंट और एक अन्य व्यक्ति के बीच बहस हुई जिसके बाद मतदान केंद्र के बाहर पथराव और हाथापाई हुई। दो वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। मतदान कुछ समय के लिए रोक दिया गया जो बाद में फिर से शुरू हुआ।

फतेहपुर में दो पक्षों में झगड़ा
वहीं, फतेहपुर में भी दो पक्षों में झगड़ा हुआ। फतेहपुर के पुलिस उपाधीक्षक रामप्रताप ने कहा- मतदान केंद्र के बाहर पथराव हुआ। पथराव में एक जवान घायल हो गया। कोई आम व्यक्ति घायल नहीं हुआ। पांच-सात लोगों को हिरासत में लिया गया है।

डीग जिले में पथराव
डीग जिले के कामां के सांवलेर गांव में पथराव में एक पुलिसकर्मी सहित दो लोग घायल हो गए। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हवा में 12 गोलियां चलाईं। डीग के पुलिस अधीक्षक बृजेश उपाध्याय ने कहा कि घटना के कारण मतदान कुछ मिनट के लिए बाधित हुआ। वहीं, टोंक जिले के उनियारा में 40-50 लोगों ने चुनाव बूथ में घुसने की कोशिश की। पुलिस अधीक्षक राजर्षि राज ने बताया कि हालांकि स्थिति पर काबू पा लिया गया।

वोटर्स में उत्साह
मतदाताओं में मतदान को लेकर खासा उत्साह देखा गया। सीकर के श्रीमाधोपुर में एक नवविवाहित जोड़ा वोट डालने पहुंचा। कल उनकी शादी हुई थी। चित्तौड़गढ़ में बिस्तर पर पड़े एक मतदाता को स्ट्रेचर पर मतदान केंद्र तक लाया गया। राज्यभर में मतदान केंद्र पर 'सेल्फी पॉइंट' बनाए गए थे जहां लोगों-विशेषकर युवा मतदाताओं ने सेल्फी ली। राज्य में कुल 200 सीट हैं लेकिन गंगानगर जिले की करणपुर सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार गुरमीत सिंह कुन्नर के निधन के बाद वहां चुनाव स्थगित कर दिया गया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें