ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानवसुंधरा राजे के दिल्ली जाने के पीछे क्या सियासी मायने? सीपी जोशी ने दिया जवाब; राजस्थान में हलचल

वसुंधरा राजे के दिल्ली जाने के पीछे क्या सियासी मायने? सीपी जोशी ने दिया जवाब; राजस्थान में हलचल

सीपी जोशी ने वसुंधरा राजे के दिल्ली जाने वाली बात पर कहा कि 'राजस्थान में सब कुछ ठीक है। वसुंधरा राजे जी पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं। वो पार्टी नेतृत्व को बधाई देने के लिए दिल्ली गई हैं।'

वसुंधरा राजे के दिल्ली जाने के पीछे क्या सियासी मायने? सीपी जोशी ने दिया जवाब; राजस्थान में हलचल
Devesh Mishraलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीThu, 07 Dec 2023 04:13 PM
ऐप पर पढ़ें

Vasundhara Raje, Rajasthan CM news: राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शानदार जीत दर्ज की है। भगवा दल ने यह चुनाव बगैर किसी सीएम फेस के लड़ा था। ऐसे में सभी के मन में एक सवाल है... भाजपा यहां सीएम किसे बनाएगी? सूबे के कई दिग्गजों के नाम की चर्चा की जा रही है। इन अटकलबाजियों के बीच राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे दिल्ली पहुंच गई हैं। सूत्रों के मुताबिक, बुधवार को पहले उन्होंने भाजपा नेतृत्व से फोन पर बातचीत किया और रात में दिल्ली के लिए निकल गईं। इसे लेकर अब कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। ऐसे में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी ने 'अंदर' की बात बताई है।

वसुंधरा राजे निकलीं दिल्ली
मंगलवार की शाम पीएम मोदी के आवास पर राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के प्रबल सीएम पद के दावेदारों को लेकर विचार किया गया। सूत्रों के मुताबिक, ऐसा माना जा रहा है कि आज (गुरुवार को) तीनों ही राज्यों के सीएम फेस तय हो जाएंगे। ऐसे में कल वसुंधरा राजे ने पार्टी नेतृत्व से बातचीत की थी। सूत्रों के मुताबिक, उन्होंने कहा कि वो भाजपा की एक अनुशासित कार्यकर्ता हैं और कभी भी पार्टी लाइन से बाहर नहीं जाएंगी। देर रात वो फ्लाइट से दिल्ली के लिए निकल गईं। इस बारे में 'एबीपी न्यूज' ने सीपी जोशी से सवाल पूछा।

सीपी जोशी ने क्या बताया?
सीपी जोशी ने वसुंधरा राजे के दिल्ली जाने वाली बात पर कहा कि 'राजस्थान में सब कुछ ठीक है। वसुंधरा राजे जी पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं। वो जीत के बाद पार्टी नेतृत्व को बधाई देने के लिए दिल्ली गई हैं।' सीपी जोशी ने पार्टी के आंतरिक लोकतंत्र का जिक्र करते हुए कहा, 'यह (वसुंधरा राजे का दिल्ली जाना) एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। पार्टी नेतृत्व जो भी करेगा राजस्थान के हित में करेगा। पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र है।' सूत्रों के मुताबिक, वसुंधरा राजे आज जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगी।

सियासी मायने क्या?
सूत्रों के हवाले से यह बताया जा रहा है कि भाजपा तीनों ही राज्यों में किसी नए चेहरे को सीएम बना सकती है। पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए यह चेहरा तय करेगी। राजस्थान में सीएम पद के लिए कई दिग्गज रेस में हैं। वसुंधरा राजे के साथ-साथ दीया कुमारी, योगी बालकनाथ, सीपी जोशी, अर्जुन राम मेघवाल, गजेंद्र सिंह शेखावत, आदि मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। ऐसे में सीएम का नाम तय होने से ठीक पहले वसुंधरा राजे के दिल्ली जाने से पार्टी के अंदर और बाहर हलचल तेज हो गई है। हालांकि राजे ने खुद को भाजपा का एक अनुशासित कार्यकर्ता बताया है और कहा है कि वो पार्टी लाइन से कभी भी बाहर नहीं जाएंगी। लेकिन अचानक से उनके दिल्ली जाने के बाद राजस्थान की राजनीति में हलचल मच गई है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें