ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानरहता नहीं तो क्या दे दोगे? दिग्विजय सिंह के कच्चातिवु वाले बयान पर PM मोदी का पलटवार, कांग्रेस को खूब सुनाया

रहता नहीं तो क्या दे दोगे? दिग्विजय सिंह के कच्चातिवु वाले बयान पर PM मोदी का पलटवार, कांग्रेस को खूब सुनाया

राजस्थान के करौली में एक सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंती ने कहा- मोदी आराम करने के लिए पैदा नहीं हुआ है। मोदी मेहनत करता है, क्योंकि मोदी के लक्ष्य बहुत बड़े हैं। ऐसे लक्ष्य जो देश से जुड़े हैं।

रहता नहीं तो क्या दे दोगे? दिग्विजय सिंह के कच्चातिवु वाले बयान पर PM मोदी का पलटवार, कांग्रेस को खूब सुनाया
Sourabh Jainलाइव हिन्दुस्तान,करौलीThu, 11 Apr 2024 07:30 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव प्रचार के लिए गुरुवार को राजस्थान के करौली पहुंचे। जहां उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। पीएम ने एकबार फिर कच्चातिवु द्वीप का मुद्दा उठाया।  उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय के उस बयान पर भी प्रतिक्रिया दी, जिसमें सिंह ने पूछा था कि उस द्वीप पर कोई रहता है क्या। 

मोदी ने कहा, 'कांग्रेस ने तमिलनाडु के पास के एक द्वीप, कच्चातिवु, को श्रीलंका को दे दिया था। इस देशविरोधी कुकृत्य को कांग्रेस बेशर्मी से जायज ठहरा रही है। कल ही कांग्रेस के एक बड़े नेता ने कहा है कि कच्चातिवु पर कोई रहता है क्या। रहता नहीं है तो क्या दे दोगे? फिर तो ये रेगिस्तान को तुम क्या कहोगे कल, यही कहोगे यहां कोई रहता है क्या? क्या ऐसे होती है देश की सेवा? ये तरीका है क्या? ये है इनकी मानसिकता, इनके लिए देश का खाली हिस्सा सिर्फ जमीन का एक टुकड़ा है।'

आगे उन्होंने कहा, 'कल ये कांग्रेसी राजस्थान जैसे सीमावर्ती राज्य की खाली जमीन यही कहकर किसी भी देश को दे सकते हैं। कांग्रेस का सिर्फ इतिहास ही खतरनाक नहीं है, बल्कि कांग्रेस के इरादे भी खतरनाक हैं।'

'मोदी आराम करने के लिए पैदा नहीं हुआ'

आगे उन्होंने कहा, 'मोदी आराम करने के लिए पैदा नहीं हुआ है। मोदी मेहनत करता है, क्योंकि मोदी के लक्ष्य बहुत बड़े हैं। ऐसे लक्ष्य जो देश से जुड़े हैं, आपसे जुड़े हैं, आपके बच्चों से और देश के युवाओं से जुड़े हैं।'

कांग्रेस ने राम मंदिर पर क्या-क्या नहीं कहा

कांग्रेस द्वारा राममंदिर का विरोध करने के लेकर मोदी ने कहा, 'जिस राजस्थान ने, धौलपुर ने अयोध्या में 500 साल के इंतजार के बाद बन रहे भव्य राम मंदिर के लिए पत्थर भेजे, उसी राम मंदिर पर कांग्रेस पार्टी के नेता कैसी-कैसी भाषा बोल रहे हैं, इन लोगों ने रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का बहिष्कार तक किया। इंडी गठबंधन में इनकी साथी पार्टी सनातन को नष्ट करने की बात करती है और ये कांग्रेस वाले उनका मौन समर्थन करते हैं। '

प्रधानमंत्री ने कहा, विकसित भारत के सपने को पूरा करने के लिए मेरा हर पल, हर क्षण देश के लिए है। 

मोदी गुरुवार को करौली में भाजपा प्रत्याशी इंदु जाटव के समर्थन में आयोजित जनसभा में बोल रहे थे। उन्होंने कहा, परिवारवाद एवं भ्रष्टाचार में डूबी कांग्रेस जनता की मजबूरियों में भी मुनाफा ढूंढ रही है। मोदी ने कहा कि पूरे देश में भ्रष्टाचारियों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है, इसलिए इंडिया गठंबधन के लोग मोदी के खिलाफ एकजुट हो रहे हैं। 

उन्होंने कहा 'आज गरीब का बेटा प्रधान सेवक है तो गरीब को परेशानी से मुक्ति मिली है और मेरा हर पल देश के नाम हैं।' उन्होंने कहा कि राजस्थान में ERCP योजना को सौ दिन कार्यकाल में पास करवा दिया गया, इसका लाभ भी प्रदेश के कई जिलों में होगा। उन्होंने कहा कि पानी के मुद्दे पर 30-40 सालों से राज्यों के बीच लड़ाई चल रही है जिससे पानी की समस्याओं का समाधान नहीं हो पाता, लेकिन राजस्थान की ERCP का काम हरियाणा में भी भाजपा सरकार और दिल्ली में भी भाजपा की सरकार होने से संभव हो सका है।

उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि कांग्रेस के शहजादे विदेश में जाकर कहते हैं कि भारत कोई राष्ट्र नहीं हैं। कांग्रेस के लोग सेना की सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगते हैं और टुकड़े-टुकड़े गैंग के पीछे सबसे पहले कांग्रेस खड़ी हो जाती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुलेआम देश की एकता के सामने सवालिया निशान खड़ा कर रहे हैं और जब मैं राजस्थान में कश्मीर की बात करता हूं तो वह कहते हैं अनुच्छेद 370 का राजस्थान से क्या वास्ता है।

मोदी ने कहा कि वह कांग्रेस को बताना चाहते हैं कि राजस्थान का कश्मीर से क्या वास्ता है। यह जानना है तो यहां के वीर जवानों के घर जाकर पूछो, उनके गांव की मिट्टी बताएगी कि राजस्थान का कश्मीर से क्या वास्ता है। कश्मीर की धरती पर राजस्थान के कई वीरों ने बलिदान दिया है। इस मिट्टी पर शहीदों की समाधियां बताएंगी कि राजस्थान का कश्मीर से क्या वास्ता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सोच इतनी संकुचित हो गई है कि ये लोग राणा प्रताप की धरती से पूछते हैं कि कश्मीर का बाकी देश से क्या वास्ता है।

दिग्विजय सिंह ने पूछा था- वहां कोई रहता है क्या?

इससे पहले बुधवार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह से जब पीएम मोदी द्वारा कच्चातिवु का मुद्दा उठाने को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'एक बात सुन लीजिए, वहां के उस द्वीप पर कोई रहता है क्या? मैं पूछना चाहता हूं।' 

इससे पहले 31 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मीडिया में आई एक खबर के हवाले से कहा था कि नए तथ्यों से पता चलता है कि कांग्रेस ने कच्चातिवु द्वीप संवेदनहीन ढंग से श्रीलंका को दे दिया था। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर एक खबर साझा करते हुए लिखा था, 'आंखें खोलने वाली और चौंका देने वाली खबर। नए तथ्यों से पता चलता है कि कांग्रेस ने कैसे संवेदनहीन ढंग से कच्चाथीवू द्वीप श्रीलंका को दे दिया था। इससे प्रत्येक भारतीय नाराज है और लोगों के दिमाग में यह बात बैठ गयी है कि हम कभी कांग्रेस पर भरोसा नहीं कर सकते।' 
बता दें कि कच्चातिवु द्वीप, तमिलनाडु में भारत के समुद्री तट से कुछ किलोमीटर की दूरी पर श्रीलंका और तमिलनाडु के बीच में एक द्वीप है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें