ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानकांग्रेस को मां कहकर 5 बार MLA बने थे, मालवीया पर गोविंद सिंह डोटासरा का निशाना

कांग्रेस को मां कहकर 5 बार MLA बने थे, मालवीया पर गोविंद सिंह डोटासरा का निशाना

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कांग्रेस विधायक महेंद्र जीत सिंह मालवीया के बीजेपी में शामिल होने की खबरों पर कहा कि कोई भी जाए। कांग्रेस पर असर नहीं पड़ेगा।

कांग्रेस को मां कहकर 5 बार MLA बने थे, मालवीया पर गोविंद सिंह डोटासरा का निशाना
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 16 Feb 2024 03:41 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कांग्रेस विधायक महेंद्र जीत सिंह मालवीया के बीजेपी में शामिल होने की खबरों पर कहा कि कोई भी जाए। कांग्रेस पर कोई असर नहीं पड़ेगा। डोटासरा ने कहा-"कांग्रेस को अपनी मां कहकर MP बने, 5 बार विधायक बने और आज वो कह रहे हैं कि मेरी मां गद्दार निकली...कोई भी जाए कांग्रेस पर कोई असर नहीं पड़ेगा"। उल्लेखनीय है कि आज बागीदौरा से कांग्रेस विधायक महेंद्र जीत सिंह मालवीया ने दिल्ली में मीडिया से बात की। कहां-"देश में कांग्रेस की दुर्दशा आप देख सकते हैं...कांग्रेस को कुछ लोगों ने घेर रखा है, देश के लिए कांग्रेस का जो विजन था वो अब नहीं रहा है। माना जा रहा है कि डोटासरा ने मालवीया पर पलटवार किया है। 

नेता प्रतिपक्ष नहीं बनाए जाने से नाराज 
मालवीया ने कहा कि 2013 में सीएलपी लीडर नहीं बनाया गया। 2018 में तीन साल बाद मंत्री बनाया गया। कांग्रेस कुछ लोगों से घिर गई है। माना जा रहा है कि महेंद्र जीत सिंह आज बीजेपी में शामिल हो सकते है। वह दिल्ली में डेरा डाले हुए है। उनके साथ कुछ अन्य कांग्रेस नेताओं के भी शामिल होने की खबर है। ऐसा कहा जा रहा है मालवीय विपक्ष का नेता नहीं बनाए जाने से नाराज थे। प्रमुख दावेदार थे। लेकिन टीकाराम जूली को विपक्ष का नेता बना दिया गया। गहलोत महेंद्र जीत सिंह के पक्ष में बताए जा रहे थे लेकिन अलवर के पूर्व सांसद भंवर जितेंद्र सिंह ने अपने खास टीकाराम जूली के नाम पर मुहर लगवा ली। इससे वह नाराज बताए जा रहे है।  

बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ सकते है

राजस्थान में बांसवाड़ा के बागीदौरा से मौजूदा विधायक महेंद्रजीत बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं। वह इससे पहले यहां के सांसद रह चुके हैं। राजस्थान की पिछली गहलोत सरकार में वह जल संसाधन और सिंचाई मंत्री थे। सूत्रों के मुताबिक मालवीय कांग्रेस से नाराज हैं। गौरतलब है कि 14 फरवरी को राज्यसभा चुनाव के लिए राजस्थान से कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में सोनिया गांधी के नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान मालवीय जयपुर नहीं आए थे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें