DA Image
24 दिसंबर, 2020|12:25|IST

अगली स्टोरी

बीजेपी और पीएम मोदी के एजेंट हैं ओवैसी, उनके कहने पर लड़ते हैं चुनाव : महेश जोशी

asaduddin owaisi

राजस्थान सरकार मुख्य सचेतक महेश जोशी ने हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी को बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी का एजेंट बताया है। जोशी ने कहा कि वह बीजेपी के लिए काम कर रहे हैं। जोशी ने ओवैसी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी के कहने पर ही चुनाव लड़ते हैं। राजस्थान की जनता ओवैसी जैसे लोगों को नकारेगी। यहां उनके मंसूबे कामयाब नहीं होंगे। जोशी ने कहा कि बीजेपी विधायकों की खरीद-फरोख्त करके सरकार गिराने पर विश्वास रखती है। 

कई राज्यों में बीजेपी ऐसा कर चुकी है। राजस्थान में भी ऐसे नाकाम मंसुबों पर बीजेपी काम कर चुकी है। बीजेपी हमेशा हिंदू-मुस्लिम को लड़ाकर राजनीति करती है जबकि कांग्रेस देश की एकता और अखंड़ता पर काम करती है। इसी कड़ी में बीजेपी ने ओवैसी को पनपाया है ताकि नफरत की आग और फैले।

दरअसल असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के अगले विधानसभा चुनाव में राजस्थान से उम्मीदवार उतारने की चर्चाओं से कांग्रेस नेताओं के बीच बेचैनी बढ़ गई है। इसीलिये कांग्रेस नेता ने असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साध रहे हैं।

ओवैसी और कांग्रेस दोनों एक ही सिक्के के पहलू : अलका गुर्जर
भाजपा राष्ट्रीय मंत्री अलका सिंह गुर्जर ने कहा कि ओवैसी और कांग्रेस दोनों एक ही सिक्के के पहलू है। दोनों की राजनीति तुष्टीकरण और मुस्लिम वोट बैंक पर टिकी है। कांग्रेस अपने वोट बैंक में हिस्सा बढ़ते देख बौखला गई है और इस तरह अनर्गल बयानबाजी कर रही है। उन्होंने कहा कि तुष्टीकरण की राजनीति करने वाली कांग्रेस यह भी समझ ले कि भारत की जनता जाति समुदाय से परे जाकर नरेंद्र मोदी की कार्यशैली से संतुष्ट है।

बिहार के चुनाव परिणामों और विभिन्न राज्यों के उपचुनावों के परिणामों ने मोदी सरकार के समय समय पर उठाए कदमों की इस जन स्वीकार्यता पर मोहर लगाकर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में कांग्रेसी बयानवीर चाहे मुख्यमंत्री गहलोत हो या मुख्य सचेतक महेश जोशी सहित कोई और हो वह यह समझ ले कि खोखली बयानबाजी और कांग्रेस सरकार द्वारा जनता की हो रही अवहेलना सभी की समझ में आ चुकी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Owaisi is agent of BJP and PM Modi contest elections at his behest: Mahesh Joshi