ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानसोनिया गांधी के नामांकन पर आपत्ति, इलेक्शन एजेंट योगेंद्र सिंह तंवर ने आपत्ति जताई

सोनिया गांधी के नामांकन पर आपत्ति, इलेक्शन एजेंट योगेंद्र सिंह तंवर ने आपत्ति जताई

सोनिया गांधी के एफिडेविट पर राज्यसभा प्रत्याशी चुन्नीलाल गरासिया के इलेक्शन एजेंट अधिवक्ता योगेंद्र सिंह तंवर ने आपत्ति जताई है। तर्क है कि इटली में पैतृक संपत्ति का विस्तृत ब्योरा नहीं दिया।

सोनिया गांधी के नामांकन पर आपत्ति, इलेक्शन एजेंट योगेंद्र सिंह तंवर ने आपत्ति जताई
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 16 Feb 2024 05:41 PM
ऐप पर पढ़ें

सोनिया गांधी के एफिडेविट पर राज्यसभा प्रत्याशी चुन्नीलाल गरासिया के इलेक्शन एजेंट अधिवक्ता योगेंद्र सिंह तंवर ने आपत्ति जताई है। तर्क है कि सोनिया गांधी ने इटली में पैतृक संपत्ति का विस्तृत ब्योरा नहीं दिया है। बता दें राजस्थान की तीन सीटों पर होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर नामांकन पत्रों की आज शुक्रवार को समीक्षा हो रही है। नामांकन जांच से पहले ही भाजपा ने कांग्रेस की राज्यसभा उम्मीदवार सोनिया गांधी के नामांकन पत्र पर राज्य निर्वाचन आयोग के समक्ष आपत्ति दर्ज कराई है। बीजेपी का आरोप है कि सोनिया गांधी के एफिडेविट में संपत्ति के ब्यूरो में पूरी जानकारी नहीं दी गई है। इटली में पैतृक संपत्ति की विस्तृत जानकारी इस एफिडेविट में नहीं है, ऐसे में सोनिया गांधी का नामांकन को खारिज किया जाए।

सोनिया गांधी के एफिडेविट पर राज्यसभा प्रत्याशी चुन्नीलाल गरासिया के इलेक्शन एजेंट अधिवक्ता योगेंद्र सिंह तंवर ने आपत्ति दर्ज कराते हुए राज्यसभा के चुनाव अधिकारी को ईमेल से आपत्ति भेजी हैं।स्क्रुटनी के समय व्यक्तिगत रूप से पेश होकर भी अपनी आपत्ति दर्ज कराई। योगेंद्र सिंह तंवर का आरोप है कि जो शपथ पत्र सोनिया गांधी ने नामांकन के समय दाखिल किया था, उसमें उन्होंने इटली में अपनी पैतृक संपत्ति की विस्तृत जानकारी नहीं दी। नियमों के तहत अगर आपकी संपत्ति कहीं भी है तो आपको उसकी नाप, अनुमानित बाजार मूल्य सहित अन्य जानकारियां देनी होती है। 

उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी ने इटली में अपनी पैतृक संपत्ति होने की बात कही है, लेकिन एफिडेविट में जानकारियां छुपाई गई हैं। कुछ जानकारी नहीं दी गई है। तंवर ने मांग रखी है कि अगर सोनिया गांधी नियमों के तहत प्रॉपर्टी की सभी जानकारी नहीं देती है तो उनका नामांकन पत्र खारिज किया जाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें