ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थाननहीं मिला मोनू मानेसर का सीधा हाथ; नासिर-जुनैद की हत्या पर राजस्थान के DGP

नहीं मिला मोनू मानेसर का सीधा हाथ; नासिर-जुनैद की हत्या पर राजस्थान के DGP

नासिर और जुनैद की हत्या पर राजस्थान के डीजीपी उमेश मिश्रा ने बड़ी बात कही है। राजस्थान से हरियाणा तक तनाव पैदा करने वाले इस हत्याकांड पर उन्होंने कहा कि मोनू मानेसर का सीधा हाथ नहीं मिला है।

नहीं मिला मोनू मानेसर का सीधा हाथ; नासिर-जुनैद की हत्या पर राजस्थान के DGP
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,जयपुरTue, 15 Aug 2023 07:30 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के भरतपुर से अगवाकर मारे गए नासिर और जुनैद की हत्या पर राजस्थान के डीजीपी उमेश मिश्रा ने बड़ी बात कही है। राजस्थान से हरियाणा तक तनाव पैदा करने वाले इस हत्याकांड को लेकर डीजीपी ने कहा है कि वारदात में गोरक्षक मोनू मानेसर का सीधा हाथ नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि परोक्ष रूप से उसकी क्या भूमिका है, इसको लेकर अभी जांच चल रही है। डीजीपी ने यह बात ऐसे समय पर कही है जब हाल ही में हरियाणा के नूंह में हुए साप्रदायिक हिंसा में इस हत्याकांड को बड़ी वजह बताई गई। कहा गया कि कुछ लोग नासिर-जुनैद की हत्या के लिए मोनू मानेसर से बदला चाहते थे। इसलिए उसके ब्रजमंडल यात्रा में शामिल होने की अफवाह पर हिंसा फैल गई।

सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मोनू मानेसर को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में डीजीपी ने कहा, 'नूंह में ही हमारी टीम गई थी। मैं हरियाणा पुलिस पर कोई आरोप नहीं लगाना चाहूंगा। हमारा प्रोफेशनल अप्रोच है। हम उनसे मदद मांगते हैं। मेन मुद्दा है इंटेलिजेंस का। इंटेलिजेंस अगर होगा तो वह पकड़ा जाएगा। मैं यह भी बता दूं कि घटना में जो भी सीधे तौर पर शामिल लोग हैं, जो मौके पर थे, घटना में प्रत्यक्ष तौर पर शामिल थे, उनमें वह (मोनू) नहीं है। एक दूसरा जो बैकग्राउंड होता है पीछे से, उस पर तहकीकात जारी है। हम यह नहीं कह सकते हैं कि हरियाणा पुलिस सहयोग कर रही है या नहीं कर रही है। यह चीजें सार्वजनिक रूप से कहने की नहीं होती। लेकिन फैक्ट यह है कि वह अभी पकड़ा नहीं गया है।'

डीजीपी ने कहा, 'जो बाकी अपराधी है,उनको लेकर हमने हरियाणा पुलिस को निवेदन किया है। रजिस्टर हमने भी कर रखा है। हो सकता है कि उनके पास भी इंटेलिजेंस ना हो। हम उनके बारे में कोई भी टिप्पणी करने से बचेंगे। जैसे आप किसी पुलिस अफसर को कहते हैं कि किसी को अरेस्ट करो, वह जब तक अरेस्ट ना हो, नहीं कह सकते कि जानबूझकर वह नहीं कर रहा है, या प्रयास कर रहा है, लेकिन सफलता नहीं मिल रही। इन सब चीजों को स्पष्ट करने का जरिया नहीं होता है। हम पड़ोसी (हरियाणा) पुलिस पर भरोसा करते हैं। हमने जब भी मदद मांगी है, सहयोग मिला है। वरिष्ठ स्तर पर हमारी बातचीत होती है।' 

गौरतलब है कि मोनू मानेसर को लेकर हरियाणा और राजस्थान के बीच लंबे समय खींचतान चल रही है। हाल ही में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा था कि राजस्थान पुलिस मोनू मानसेर को गिरफ्तार कर सकती है, हरियाणा पुलिस पूरा सहयोग करेगी। वहीं, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने पलटवार करते हुए आरोप लगाया था कि मोनू मानसेर की गिरफ्तारी में सहयोग नहीं किया जा रहा है।