ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजस्थान में गुंडागर्दी! जमानत पर आया था बाहर, भीड़ के सामने धारदार हथियार से घोंप कर मार डाला

राजस्थान में गुंडागर्दी! जमानत पर आया था बाहर, भीड़ के सामने धारदार हथियार से घोंप कर मार डाला

पंकज के पिता रामू पंकज ने इस मामले में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने शुरू में इस मामले में एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था और फिर बाद में हत्या की धारा FIR में जोड़ी गई।

राजस्थान में गुंडागर्दी! जमानत पर आया था बाहर, भीड़ के सामने धारदार हथियार से घोंप कर मार डाला
Nishant Nandanपीटीआई,कोटाSun, 07 Jan 2024 07:27 PM
ऐप पर पढ़ें

जमानत पर जेल से बाहर आए एक शख्स की भीड़ के सामने लोगों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी। राजस्थान के कोटा जिले में भीड़ की इस बेरहमी के बारे में सुनकर सभी हैरान हैं। बताया जा रहा है कि बारन शहर में म्यूनिसिपैलिटी कॉलोनी इलाके में 22 साल के युवक की हत्या का आरोप भीड़ पर है। पुरानी रंजिश की वजह से युवक की हत्या करने की बात कही जा रही है। मृतक युवक की पहचान कृष्णा नगर इलाके के रहने वाले कार्तिक पंकज के तौर पर हुई है। 

बारन सिटी पुलिस स्टेशन के एसएचओ रामविलास मीणा ने कहा, 'कार्तिक पंकज पर भीड़ की मौजूदगी में 10-12 लोगों ने हमला किया। शनिवार की रात करीब साढ़े आठ बजे उनपर धारदार हथियार और लोहे की रॉड से हमला किया गया था। उनके पेट में तेज धार वाली हथियार घुस गई थी। गंभीर हालत में पंकज को एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और यहां चिकित्सकों ने उन्हें कोटा में दूसरे अस्पताल में रेफर कर दिया। रविवार को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। 

पुलिस के मुताबिक, पंकज का क्रिमिनल बैकग्राउंड था और वो दो महीने पहले ही जेल से बेल पर बाहर आया था। पुलिस ने बताया कि आरोपियों की एक गाड़ी का शीशा शुक्रवार को तोड़ा गया था और यह हमला इसी संबंध में किया गया है। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को पकड़ा है और पंकज के शव को परिजनों के हवाले किया गया है। 

पंकज के पिता रामू पंकज ने इस मामले में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने शुरू में इस मामले में एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था और बाद में हत्या की धारा एफआईआर में जोड़ी गई। इस केस में 11 लोगों पर नामजद एफआईआर दर्ज हुआ है। पुलिस ने इस मामले के मुख्य आरोपी नरोत्तम प्रजापत और तीन अन्य लोगों को पकड़ लिया है। अन्य आरोपियों की तलाश अभी जारी है। इस हत्याकांड से आक्रोशित मृतक के रिश्तेदारों ने प्रदर्शन करते हुए सड़क जाम कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने मुआवजे और आरोपियों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई की मांग की थी। बाद में प्रशासन ने लोगों को समझा-बूझा कर यह प्रदर्शन खत्म कराया।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें