ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजस्थान में कांग्रेस को झटका, महेंद्रजीत मालवीय बीजेपी में शामिल; लेकिन रखी यह शर्त

राजस्थान में कांग्रेस को झटका, महेंद्रजीत मालवीय बीजेपी में शामिल; लेकिन रखी यह शर्त

राजस्थान में कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। बागीदौरा से कांग्रेस विधायक महेंद्र जीत सिंह मालवीय बीजेपी में शामिल हो गए है। आज बीजेपी मुख्यालय में बीजेपी के नेताओं की मौजूदगी में सदस्यता ग्रहण की।

राजस्थान में कांग्रेस को झटका, महेंद्रजीत मालवीय बीजेपी में शामिल; लेकिन रखी यह शर्त
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 19 Feb 2024 02:53 PM
ऐप पर पढ़ें

Mahendrajeet Singh Malviya News : राजस्थान में कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। बीजेपी में शामिल होने के महेंद्रजीत सिंह मालवीय जयपुर स्थित बीजेपी कार्यालय पहुंचे है। कुछ ही देर बाद पार्टी में शामिल होने का आधिकारिक ऐलान कर दिया। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी ने मालवीय को माला पहनाई। इस मौके पर पार्टी प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, सह प्रभारी विजय राहटकर, राजेंद्र राठौड़ और अरुण चतुर्वेदी मौजूद थे। पार्टी मुख्यालय में आज बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी की प्रेस वार्ता  हुई। इसके बाद बीजेपी में शामिल होना लगभग तय माना जा रहा है। बता दें बागीदौरा से कांग्रेस विधायक महेंद्र जीत मालवीय के भाजपा में जाने की चर्चा तेजी से उड़ी रही। मालवीय ने कहा कि आज नहीं तो कल मानगढ़ राष्ट्रीय स्मारक घोषित होना चाहिए। यह मेरी पीएम मोदी से मांग है। मालवीया ने कहा कि बीजेपी परिवार के लिए मैं पुरान था। लेकिन मैं अब नया हूं। केंद्र में फिर बीजेपी की सरकार बनेगी। मुझे जब ठेक लगी की कांग्रेस ने रामलाल के दर्शन का न्यौता ठुकरा दिया था। बीजेपी की नीतियों की वजह में मैं एक बार अपने घर लौटा हूं। 

 विधायक पद से दिया इस्तीफा 

बीजेपी में शामिल होने के बाद मालवीय ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। माना जा रहा है कि उनकी पत्नी रेशम मालवीय को बीजेपी उनके स्थान पर टिकट दे सकती है। जबकि महेंद्र जीत मालवीय को लोकसभा का टिकट मिलना तय माना जा रहा है। महेंद्र जीत सिंह मालवीय ने इस अवसर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कुछ लोगों से घिरी हुई है। सियासी जानकारों का कहना है कि मालवीय के कांग्रेस छोड़ने से नुकसान हो सकता है। क्योंकि मालवीय बड़े आदिवासी नेता माने जाते है। डूंगरपुर और बांसवाड़ा में कांग्रेस कमजोर हो सकती है। हालांकि, मालवीय को कांग्रेस के अन्य आदिवासी नेता अर्जुन बामणिया औऱ रमीला खड़िया का साथ नहीं मिला है। माना जा रहा है कि वह जल्द ही विधानसभा से इस्तीफा दे सकते है। उनकी जगह पत्नी को टिकट मिल सकता है। जबकि मालवीय को लोकसभा का टिकट मिल सकता है। महेंद्र जीत सिंह मालवीय पांच बार विधायक और एक बार सांसद रह चुके है। 

कांग्रेस पर लगाए थे आरोप

कांग्रेस विधायक महेंद्रजीत सिंह मालवीय ने कांग्रेस पर हमला बोला और कहा कि कांग्रेस आज कुछ लोगों के बीच घिर गई है। देश और जनता के लिए पहले जैसा विजन भी नहीं है। जब उनसे भाजपा में शामिल होने को लेकर सवाल किया गया तो उनका कहना था कि देखो, आज देखते हैं। इसके बाद जब उनसे कांग्रेस छोड़ने का कारण पूछा गया तो वे कांग्रेस पर भड़क गए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें