ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानराजस्थान मेें मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन, 5 करोड़ 32 लाख वोटर; जानें नए वोटर कितने जुड़े

राजस्थान मेें मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन, 5 करोड़ 32 लाख वोटर; जानें नए वोटर कितने जुड़े

राजस्थान के सभी जिलों में निर्वाचन विभाग द्वारा गुरूवार को राज्य के 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की एकीकृत फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का अन्तिम प्रकाशन किया गया। 5 करोड़ 32 लाख वोटर ।

राजस्थान मेें मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन, 5 करोड़ 32 लाख वोटर; जानें नए वोटर कितने जुड़े
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 08 Feb 2024 06:12 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान के सभी जिलों में निर्वाचन विभाग द्वारा गुरूवार को राज्य के 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की एकीकृत फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का अन्तिम प्रकाशन किया गया। यह सूची विभाग की वेबसाइट ceorajasthan.nic.in पर उपलब्ध है। करणपुर विधानसभा क्षेत्र की सूचियों का अन्तिम प्रकाशन 13 फरवरी को होगा।  मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि लोकसभा आम चुनाव-2024 के लिए प्रदेश में कुल 5 करोड़ 32 लाख से अधिक मतदाता पंजीकृत हैं (करणपुर विधानसभा क्षेत्र के आंकड़ों सहित)। 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की प्रकाशित अंतिम मतदाता सूचियों में कुल 5,29,68,476 मतदाता हैं, इनमें से 2,74,75,971 पुरूष, 2,53,51,276 महिला एवं 1,41,229 सेवानियोजित मतदाता सम्मिलित हैं।

दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताओं की संख्या बढ़ी

उन्होंने बताया कि 18-19 साल के 15,54,604 नव मतदाता वर्ष 2023 में संपन्न विधानसभा आम चुनाव के बाद जोड़े गए हैं, जो आगामी चुनाव में पहली बार मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इन सूचियों में थर्ड जेंडर के 616 मतदाता पंजीकृत हैं। गुप्ता ने बताया कि विधानसभा चुनाव 2023 के बाद मतदाता सूचियों में शुद्ध रूप से 2,79,366 मतदाताओं की वृद्धि हुयी है, जबकि प्रारूप प्रकाशन के बाद संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम-2024 के दौरान 5,20,807 मतदाताओं की वृद्धि हुई है। इस अवधि में 2,64,564 मतदाताओं के नाम विलोपित भी किए गए हैं। इस प्रकार शुद्ध रूप से 2,56,243 मतदाताओं की वृद्धि हुई है।गुप्ता ने यह भी बताया कि 19 जनवरी को मतदान केन्द्र स्थलों पर दिव्यांग मतदाताओं के पंजीकरण के लिए विशेष शिविर आयोजित हुए। विधानसभा चुनाव 2023 के दौरान प्रदेश में 5 लाख 60 हजार 425 दिव्यांग मतदाता तथा 80 वर्ष से अधिक आयु के 11 लाख 72 हजार 260 पंजीकृत थे जिनकी संख्या अब बढ़कर क्रमशः 5,72,965 तथा 12,85,960 हो गयी है।

लैंगिक अनुपात में सुधार हुआ
मतदाता सूचियों के अन्तिम प्रकाशन 08.02.2024 के अनुसार, राज्य की मतदाता सूचियों में लैंगिक अनुपात 920 की तुलना में 923 हो गया है। इसी प्रकार, निर्वाचक जनसंख्या अनुपात भी 650 की तुलना में 654 हो गया है। कुल पंजीकृत मतदाताओं में 18-19 आयु वर्ग के मतदाताओं का प्रतिशत 2.94 है। राज्य में सभी मतदाताओं के लिए मतदाता पहचान पत्र (एपिक) जारी हो चुके हैं।अंतिम प्रकाशित सूचियों में विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 55-सांगानेर में मतदाताओं की संख्या में 2.00 प्रतिशत, 50-विद्याधर नगर में 2.00 प्रतिशत, 96-टोंक में 1.73 प्रतिशत, 46-झोटवाडा में 1.61 प्रतिशत एवं 49-हवामहल में 1.54 प्रतिशत वृद्धि हुई है। राज्य में 199 विधानसभा क्षेत्रों की अंतिम प्रकाशित सूचियों के अनुसार सर्विस वोटर्स की संख्या 141821 है, इनमें 4874 महिला हैं। साथ ही, प्रदेशभर में 36090 स्थानों पर कुल मतदान केन्द्रों की संख्या 51507 है। 

राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक

 गुप्ता ने बताया कि एकीकृत मतदाता सूचियों के संबंध में गुरूवार को राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में जानकारी दी गई है तथा सभी राजनैतिक दलों से बीएलए नियुक्त करने का आह्वान किया गया है। समस्त मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की बैठक आयोजित कर मतदाता सूचियों की हार्ड एवं सॉफ्ट कॉपी निःशुल्क प्रदान करने के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। श्री गुप्ता ने बताया कि 7 जनवरी एवं 21 जनवरी को राज्य के सभी मतदान केन्द्रों पर आयोजित विशेष अभियान शिविरों में मतदाताओं के पंजीकरण के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा सक्रिय सहयोग किया गया। 

बैठक में श्री गुप्ता ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के क्रम में लोकसभा आम चुनाव हेतु evm/vvpat मशीनों की प्रथम स्तरीय जांच (FLC) का कार्य भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड, बेंगलुरु के 276 इंजीनीयर्स द्वारा  27 जनवरी, 2024 से राज्य के सभी जिलों में प्रारंभ किया गया हैं। उन्होंने बताया कि evm/vvpat मशीनों की प्रथम स्तरीय जांच (FLC) का कार्य 16 फरवरी, 2024 तक पूर्ण होने की संभावना हैं। 7 फरवरी तक 65 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। ईवीएम से तात्पर्य बैलेट यूनिट (बीयू), कंट्रोल यूनिट (सीयू) और वीवीपीएटी से है। राज्य के जिलों में लाइव वेबकास्टिंग के जरिए लगभग 90689 बीयू, 73005 सीयू और 73005 vvpat मशीनों की flc करवाई जा रही है। एफएलसी ओके मशीनों को ईवीएम डेमोस्ट्रेशन सेंटर पर आमजन के लिए वोट प्रक्रिया समझने हेतु प्रदर्शित किया जा रहा है, जिसमें नवमतदाता उत्साह से भाग ले रहे हैं।

सबसे अधिक और कम मतदाता इन विधानसभा क्षेत्रों में
सबसे ज्यादा झोटवाड़ा विधानभा क्षेत्र में 4,37,479, बगरू में 3,60,013, सांगानेर में 3,59,012, विद्याधरनगर में 3,50,638, लूणी में 3,38,187 मतदाता पंजीकृत हैं। सबसे कम मतदाता किशनपोल विधानसभा क्षेत्र में 1,94,902 मतदाता, जोधपुर में 1,99,809, बसेड़ी में 2,04,021, पीपल्दा में 2,10,146 अजमेर उत्तर में 2,10,244 मतदाता पंजीकृत हैं। 

सबसे अधिक व कम महिला मतदाता यहां
झोटवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 2,10,464 महिला मतदाता पंजीकृत हैं, जबकि सबसे कम महिला मतदाता बसेड़ी में 93,096 में पंजीकृत हैं।नाम जुड़वाने की प्रक्रिया जारी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदाता सूचियों में नाम जोड़ने की प्रक्रिया 8 फरवरी के बाद भी जारी रहेगी, अतः पंजीकरण से शेष रहे मतदाता लोकसभा आम चुनाव 2024 के अंतर्गत नामांकन की अंतिम तिथि से 10 दिन पूर्व तक अपना नाम सूची में जुड़वा सकते हैं। इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग के मतदाता सेवा पोर्टल, वोटर हेल्प लाइन एप तथा बीएलओ एप का उपयोग किया जा सकता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें