ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानब्राह्मणों को साधने के लिए कांग्रेस ने सीपी जोशी पर खेला दांव, भीलवाड़ा से टिकट की इनसाइड स्टोरी

ब्राह्मणों को साधने के लिए कांग्रेस ने सीपी जोशी पर खेला दांव, भीलवाड़ा से टिकट की इनसाइड स्टोरी

राजस्थान में कांग्रेस ने भीलवाड़ा से सीपी जोशी को उम्मीदवार बनाकर ब्राह्मणों को साधने की कवायद की है। कांग्रेस ने एक भी ब्राह्मण उम्मीदवार खड़ा नहीं किया था। ऐसे में बीजेपी हमलावर हो गई थी।

ब्राह्मणों को साधने के लिए कांग्रेस ने सीपी जोशी पर खेला दांव, भीलवाड़ा से टिकट की इनसाइड स्टोरी
cp joshi congress
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 29 Mar 2024 10:39 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान में कांग्रेस ने भीलवाड़ा से सीपी जोशी को उम्मीदवार बनाकर ब्राह्मणों को साधने की कवायद की है। दरअसल कांग्रेस ने एक भी ब्राह्मण उम्मीदवार खड़ा नहीं किया था। ऐसे में बीजेपी हमलावर हो गई थी। कांग्रेस ने जयपुर से सुनील शर्मा को टिकट दिया था, लेकिन बाद बदल दिया था। इससे कांग्रेस का सोशल इंजीनियरिंग वाला फाॅर्मूला गड़बड़ा गया। बीजेपी के साथ-साथ ब्राह्मण संगठनों के निशाने पर कांग्रेस आ गई थी। अब पार्टी ने सीपी जोशी को भीलवाड़ा से टिकट देकर आलाचकों का मुंह बंद कर दिया है। जबकि भीलवाड़ा के प्रत्याशी को राजसमंद से खड़ा किया है। कांग्रेस ने भीलवाड़ा में पहले दामोदर गुर्जर को उम्मीदवार बनाया था। लेकिन अब उनकी जगह पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सी.पी. जोशी को उम्मीदवार बनाया गया है। वहीं दामोदर गुर्जर को भीलवाड़ा से राजसमंद सीट पर भेजा गया है। बता दें सीपी जोशी कांग्रेस के बड़े ब्राह्मण नेता है। पीसीसी चीफ से लेकर केंद्र में मंत्री रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस ने सीपी जीशो को चुनावी मैदान में उतारकर मुकाबले को दिलचस्प बना दिया है।

राजसमंद सीट पर पहले पूर्व विधायक सुदर्शन सिंह रावत को उतारा गया था। लेकिन उन्होंने इनकार करने के बावजूद टिकट देने की बात कहते हुए चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था। कांग्रेस इससे पहले जयपुर शहर की लोकसभा सीट पर प्रत्याशी बदल चुकी है। यहां पहले सुनील शर्मा को प्रत्याशी बनाया था। लेकिन जयपुर डायलॉग्स विवाद के चलते सुनील शर्मा का टिकट बदलकर पूर्व मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास को उम्मीदवार बनाया है।

सियासी जानकारों का कहना है कि राजस्थान में 30 से 40 विधानसभा सीटों पर ब्राह्मणों का असर है। करीब 7 से 8 लोकसभा सीटों पर ब्राह्मण समुदाय के लोग हराने और जिताने में अहम भूमिका निभाते है। ऐसे में कांग्रेस को सियासी तौर पर नुकसान हो सकता था। हाालंकि, राजस्थान में ब्राह्मण बीजेपी का वोटर माना जाता है कि लेकिन ग्रामीण और शहरी इलाकों में बड़ी संख्या में ब्राह्मण कांग्रेस को वोट देते रहे है। कांग्रेस के रणनीतिकारों ने सीपी जोशी को टिकट देकर बीजेपी से उनका मुद्दा छीन लिया है। दरअसल, बीजेपी से जुड़े ब्राह्मण संगठनों के मुखिया कांग्रेस के खिलाफ लामबंद हो गए थे।