ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News राजस्थानराजस्थान की वो लोकसभा सीट, जहां से दिल्ली पुलिस का काॅन्स्टेबल बना सांसद; पढ़िए पूरी कहानी

राजस्थान की वो लोकसभा सीट, जहां से दिल्ली पुलिस का काॅन्स्टेबल बना सांसद; पढ़िए पूरी कहानी

राजस्थान की जैसलमेर-बाड़मेर लोकसभा सीट से दिल्ली पुलिस के काॅन्स्टेबल रहे उम्मेदाराम बेनीवाल ने चुनाव जीतकर राजनीतिक विश्लेषकों को चौंका दिया है। एक लाख से ज्यादा मतों से जीत हासिल की।

राजस्थान की वो लोकसभा सीट, जहां से दिल्ली पुलिस का काॅन्स्टेबल बना सांसद; पढ़िए पूरी कहानी
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 06 Jun 2024 10:10 AM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की जैसलमेर-बाड़मेर लोकसभा सीट से दिल्ली पुलिस के काॅन्स्टेबल ने एक लाख से ज्यादा मतों से चुनाव जीतकर राजनीतिक विश्लेषकों को चौंका दिया है। कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेदाराम बेनीवाल ने निर्दलीय रविंद्र सिंह भाटी को हरा दिया। बता दें जैसलमेर-बाड़मेर संसदीय सीट पर कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी की शिकस्त दी है। उम्मेदाराम बेनीवाल बायतू से दो बार विधानसभा का चुनाव लड़ चुके है। लेकिन दोनों ही बार हार का सामना करना पड़ा। इस बार आरएलपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए और शानदारी जीत हासिल की है। उम्मेदाराम बेनीवाल राजनीति में आने से पहले दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल थे। लेकिन उनको नौकरी रास नहीं आई। उल्लेखनीय है कि जैसलमेर लोकसभा सीट त्रिकोणीय मुकाबले के चलते पूरे देश में चर्चित बनी हुई थी। यहां से कांग्रेस के उम्मेदाराम बेनीवाल और निर्दलीय प्रत्याशी रविंद्र सिंह भाटी के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। उम्मेदाराम बेनीवाल सुबह से बढ़त बनाए हुए थे, जबकि भाजपा के प्रत्याशी कैलाश चौधरी तीसरे स्थान पर रहे। 

2024 के चुनाव में बाड़मेर लोकसभा सीट पर 74.25 प्रतिशत मतदान हुआ। यह मतदान 2019 में हुए मतदान से 0.95 प्रतिशत ज्यादा है। 2019 में बाड़मेर क्षेत्र में 73.30 प्रतिशत मतदान हुआ था। बाड़मेर से भाजपा ने कैलाश चौधरी को लगातार दूसरी बार चुनाव लड़ाया। पीएम मोदी ने चौधरी के समर्थन में चुनावी सभा की। कांग्रेस ने आरएलपी के नेता उम्मेदाराम बेनीवाल को चुनाव मैदान में उतार कर भाजपा को चिंता में डाल दिया था। रही सही कसर रविंद्र सिंह भाटी ने पूरी कर दी। शिव से निर्दलीय विधायक रविंद्र भाटी लोकसभा चुनाव में कूदे तो भाजपा की चिंता और बढ़ गई। इस बार बाड़मेर में कांटे की टक्कर का रोचक मुकाबला देखने को मिला।

कहां से पूरी की पढ़ाई?

46 साल के उम्मेदाराम बेनीवाल बालोतरा के रहने वाले हैं। इन्होंने 10 वीं की परीक्षा हीरा की ढाणी से 1993 में की थी। इन्होंने 12वीं की पढ़ाई 1995 में की। ग्रैजुएशन में इन्होंने बीए MSDU,अजमेर से 2000 में पूरा किया था। बाड़मेर-जैसलमेर सीट से दूसरे नंबर पर निर्दलीय प्रत्याशी रविंद्र सिंह भाटी को कुल 586500 वोट मिले। वहीं बीजेपी के कैलाश चौधरी 286733 वोटों के साथ तीसरे नंबर पर रहे। इस सीट पर बीजेपी के कैलाश चौधरी मैदान में थे। कैलाश चौधरी को कुल 286733 वोट मिले। उम्मेदाराम बेनीवाल हनुमान बेनीवाल के करीबी हैं।उम्मेदाराम बेनीवाल आरएलपी का खास चेहरा माने जाते थे। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी को मजबूत करने में इनकी अहम भूमिका रही है। कांग्रेस से जुड़ने से पहले इन्होनें कहा था कि वह कांग्रेस की विचारधारा को मानते हैं, वह इसे मजबूत करने की पूरी कोशिश करेंगे।