ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानबिहार की तरह राजस्थान सरकार भी करवाएगी जातिगत जनगणना, CM गहलोत का ऐलान

बिहार की तरह राजस्थान सरकार भी करवाएगी जातिगत जनगणना, CM गहलोत का ऐलान

बिहार की तरह राजस्थान की गहलोत सरकार भी जातिगत जनगणना करवाएगी। शुक्रवार को गहलोत कोर‌ कमेटी की बैठक में प्रस्ताव पास किया। कोर कमेटी की बैठक में सचिन पायलट भी मौजूद थे।

बिहार की तरह राजस्थान सरकार भी करवाएगी जातिगत जनगणना, CM गहलोत का ऐलान
Swati Kumariलाइव हिंदुस्तान,जयपुरFri, 06 Oct 2023 11:08 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार की तरह राजस्थान की गहलोत सरकार भी प्रदेश में जातिगत जनगणना करवाएगी। कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक के बाद सीएम गहलोत ने कहा कि बिहार की तरह अब राजस्थान में भी जातिगत जनगणना होगी। सीएम ने कहा, 'इससे सभी जातियों के लोगों को आनुपातिक अधिकार मिल सकेगा।' शुक्रवार शाम जयपुर में कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक हुई।

कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ-साथ पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा, प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा, पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट सहित अन्य शामिल हुए। इस बैठक में चुनावी रणनीति के साथ-साथ चुनावी प्रबंधन पर बातचीत हुई। साथ ही कांग्रेस प्रत्याशियों के नाम पर भी मंथन हुआ।

बता दें कि बिहार में बीते दिनों नीतीश कुमार सरकार ने जातिगत जनगणना करवाई है। इसके आंकड़े हाल ही में जारी किये गए हैं। आज छ्त्तीसगढ़ के कांकेर में प्रियंका गांधी ने एक सभा में कहा था कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर जातिगत जनगणना कराई जाएगी। इसके बाद शाम में राजस्थान के मुख्यमंत्री ने भी राज्य में जातिगच जनगणना कराने की बात कही है।

इससे पहले सीएम अशोक गहलोत ने शुक्रवार को तीन नए जिलों मालपुरा, कुचामन सिटी एवं सुजानगढ़ के गठन की घोषणा की। गहलोत ने जयपुर के मानसरोवर में गो सेवा समिति द्वारा आयोजित गो सेवा सम्मेलन में यह घोषणा की। गहलोत ने कहा कि आगे भी उच्च स्तरीय समिति की सिफारिशों पर सीमांकन सहित अलग-अलग परेशानियों को दूर किया जा सकेगा। गहलोत की इन तीन और नए जिलों की इस घोषणा से इनके गठन के बाद प्रदेश में जिलों की संख्या 53 हो जाएगी।

मुख्यमंत्री की आगामी विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले इन नए जिलों की घोषणा को उनका मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है। गौरतलब है कि इससे पहले गत मार्च में श्री गहलोत ने एक साथ 19 नए जिलों के गठन की घोषणा की थी। इसके बाद राजस्थान में जिलों की संख्या 50 पहुंच गई थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें