ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ राजस्थानउदयपुर में पटरी पर लौट रही जिंदगी, कर्फ्यू में 10 घंटे की ढील के बीच खुले बाजारों में उमड़ी भीड़; कल 12 घंटे की मिलेगी राहत

उदयपुर में पटरी पर लौट रही जिंदगी, कर्फ्यू में 10 घंटे की ढील के बीच खुले बाजारों में उमड़ी भीड़; कल 12 घंटे की मिलेगी राहत

मालदास स्ट्रीट भूतमहल के पास जिस इलाके में कन्हैयालाल की हत्या हुई थी, उसके आसपास भी कुछ दुकानें खुली देखी गईं। एहतियात के तौर पर अब भी इलाके में पुलिस बल तैनात है और जगह-जगह बैरिकेड लगाए हुए हैं।

उदयपुर में पटरी पर लौट रही जिंदगी, कर्फ्यू में 10 घंटे की ढील के बीच खुले बाजारों में उमड़ी भीड़; कल 12 घंटे की मिलेगी राहत
Praveen Sharmaउदयपुर। लाइव हिन्दुस्तानSun, 03 Jul 2022 09:47 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल साहू की जघन्य हत्या के बाद अब उदयपुर में लोगों की जिंदगी पटरी पर लौट रही है। रविवार को सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे कर्फ्यू में ढील के बीच पूरी तरह शांति रही। इसके बाद प्रशासन ने सोमवार को सुबह 8 से शाम 8 बजे तक कर्फ्यू में ढील के निर्देश जारी कर दिए हैं। 

दरअसल, कर्फ्यू में ढील के बावजूद रविवार की वजह से कई दुकानें नहीं खुलीं, लेकिन जरूरी सामान की अधिकतर दुकानें खुलीं और लोगों ने खरीदारी भी की। सुबह आठ बजे से ही बाजारों में दुकानें खुलना शुरू हो गई थीं। सब्जी मार्केट में भी बिक्री शुरू हो गई। पुलिस अब भी चप्पे चप्पे पर तैनात है।

मालदास स्ट्रीट भूतमहल के पास जिस इलाके में कन्हैयालाल की हत्या हुई थी, उसके आसपास भी कुछ दुकानें खुली देखी गईं। एहतियात के तौर पर अब भी इलाके में पुलिस बल तैनात है और जगह-जगह बैरिकेड लगाए हुए हैं।

शहर में तमाम लोगों ने रविवार को भी अपने जरूरी काम निपटाए। कुछ प्राइवेट ऑफिस भी खुले रहे। शहर में सभी बाजारों में लोगों की आवाजाही देखी गई। हालांकि, पुलिस बल तैनात होने से कुछ अफवाहों का बाजार गर्म होने से लोगों में मन में अब भी तनाव और डर देखा गया। प्रशासन और तमाम लोग त्योहार का सीजन शुरू होने के चलते लोगों से शहर में शांति बनाए रखने की अपील भी कर रहे हैं।

बेदला में गैराज मालिक की संदिग्ध मौत, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

उदयपुर के पास बेदला में रविवार को सुखेर थाना इलाके में युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई। युवक का शव उसके ही कार गैराज में फंदे पर लटका मिला। शनिवार देर शाम तक फोन नहीं उठाने पर युवक के पिता गैराज पहुंचे तो घटना का पता चला। पुलिस पूरा मामला सुसाइड का मान रही है। वहीं परिजनों ने गैराज के पास रहने वाले कुछ युवकों पर हत्या का आरोप लगाकर जमकर हंगामा किया। पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाकर बड़ी तादाद में हिन्दू संगठनों के पदाधिकारी भी थाने के बाहर जमा हो गए। वहीं, इसी बीच पूरे शहर में भी हत्या होने की अफवाह फैलती रही।

गैराज के पास लॉन्ड्री चलाने वाले नौशाद और समीर गायब

जानकारी के अनुसार, सुखदेवनगर, बेदला निवासी रविन्द्र सिंह (38) भीलों का बेदला स्थित पैसिफिक मेडिकल कॉलेज के पास अपने गैराज पर था। शनिवार को शहर में बंद होने के कारण गैराज पर ज्यादा लोग नहीं थे। गैराज के पास लॉन्ड्री की दुकान चलाने वाले नौशाद और समीर भी गायब हैं और वो फोन भी नहीं उठा रहे हैं। रविंद्र के पिता लक्ष्मण सिंह चौहान ने बताया कि पुलिस को शनिवार रात को ही हत्या की आंशका जता दी गई थी। मगर कोई कार्रवाई नहीं हुई। हंगामे के बाद पुलिस ने 3 लोगों के खिलाफ नामजद हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

epaper