ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानLaal Diary Politics: फिर ये भाई बनकर कौन आया? राजेंद्र गुढ़ा की लाल डायरी के पन्ने फिर वायरल

Laal Diary Politics: फिर ये भाई बनकर कौन आया? राजेंद्र गुढ़ा की लाल डायरी के पन्ने फिर वायरल

राजस्थान की सियासत में बवड़़र खड़ा करने वाली लाल डायरी के पन्ने सोशल मीडिया में वायरल हो रहे है। पन्नों में गहलोत सरकार के बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने सोनिया गांधी के भाई का भी जिक्र किया है।

Laal Diary Politics: फिर ये भाई बनकर कौन आया?  राजेंद्र गुढ़ा की लाल डायरी के पन्ने फिर वायरल
Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरThu, 23 Nov 2023 04:15 PM
ऐप पर पढ़ें

राजस्थान की सियासत में बवड़़र खड़ा करने वाली लाल डायरी के पन्ने एक बार फिर सोशल मीडिया में वायरल हो रहे है। वायरल पन्नों में गहलोत सरकार के बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने सोनिया गांधी के भाई का भी जिक्र किया है। हालांकि, लाइव हिंदुस्तान इन वायरल पन्नों की पुष्टि नहीं करता है। लाल डायरी में विधायक बलजीत यादव से लेकर 9 निर्दलीय विधायकों के नाम शामिल है। डायरी में ये भी लिखा है कि प्रियंका गांधी के सचिव संदीप सिंह ने राजस्थान में फ़रारी काटी। उनके लिए होटल का इंतेज़ाम करवाया। प्रियंका गांधी के साथ यूपी में काम करने वाले AICC सचिव जुबेर ख़ान ने मेवात विकास बोर्ड का चेयरमैन बनने के लिए सीएम से सिफ़ारिश को कहा। गुढ़ा का आरोप, अशोक गहलोत ने प्रियंका के सचिव की राजस्थान में पूरी व्यवस्था कराई। जुबेर ख़ान सचिव AICC मेरे घर आये। वे मेवात विकास बोर्ड के चेयरमैन बनना चाह रहे हैं। सीएम साहब से सिफ़ारिश कराने के लिए आये। जुबेर ख़ान अभी प्रियंका जी के साथ यूपी में काम कर रहे हैं। प्रियंका जी के निजी सचिव संदीप सिंह राजस्थान में फ़रारी काट रहे हैं। मुझे जुबेर ने कहा कि जयमहल में इनके कमरे का समय बढ़ा दो।

सोनिया गांधी की हैं दो बहनें तो भाई बनकर जयपुर कौन आया? 

राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने कहा कि मख्यमंत्री के ओएसडी से उनकी (सोनिया गांधी के कथित भाई) मुलाकात का समय फिक्स कराने के लिए भी कहा था. गुढ़ा के इस दावे के बाद सवाल उठने लगे हैं कि आखिर जयपुर के शादी समारहो में सोनिया गांधी का भाई बनकर कौन आया, जिसके लिए मुख्यमंत्री के ओएसडी शशिकांत शर्मा से मुलाकात का समय फिक्स कराने को कहा गया था। इन आरोपों के साथ ही गुढ़ा ने एक सवाल करते हुए कहा, सोनिया गांधी की दो बहनें हैं. फिर ये भाई बनकर कौन आया?

केंद्र सरकार कार्रवाई क्यों नहीं कर रही 

बता दें आज ही सीएम गहलोत ने राजधानी जयपुर में प्रेस वार्ता में कहा कि मोदी के पास ईडी, सीबीआई है। फिर जांच क्यों नहीं कराते है। लाल डायरी का सच सामने आना चाहिए। सीएम गहलोत ने कहा कि चुनाव से पहले उनकी सरकार को बदनाम करने के लिए लाल डायरी का सुनियोजित तरीके से षड्यंत्र रचा गया। सरकार को बदनाम किया गया। लाल डायरी के सवाल पर बीजेपी और केंद्र सरकार को घेरते हुए कहा, 'लाल डायरी, कौनसी लाल डायरी। अगर लाल डायरी इनके पास है तो इन्होंने क्या कार्रवाई की है, जबकी ईडी इनके पास है और सीबीआई इनके पास है।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें