ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानकोटा के जिस कोचिंग छात्र को खोजने में जुटे थे 100 जवान, ड्रोन से चला सर्च ऑपरेशन; 9 दिन बाद मिली लाश

कोटा के जिस कोचिंग छात्र को खोजने में जुटे थे 100 जवान, ड्रोन से चला सर्च ऑपरेशन; 9 दिन बाद मिली लाश

कोटा शहर से एक सप्ताह पहले लापता हुए कोचिंग छात्र का शव सोमवार देर शाम को पुलिस ने बरामद कर लिया है। छात्र का शव गडरिया महादेव इलाके में चट्टान और पेड़ के बीच अटका हुआ था। पढ़ें पूरी खबर।

कोटा के जिस कोचिंग छात्र को खोजने में जुटे थे 100 जवान, ड्रोन से चला सर्च ऑपरेशन; 9 दिन बाद मिली लाश
Mohammad Azamलाइव हिन्दुस्तान,कोटाMon, 19 Feb 2024 09:50 PM
ऐप पर पढ़ें

कोटा शहर से एक सप्ताह पहले लापता हुए कोचिंग छात्र का शव सोमवार देर शाम को पुलिस ने बरामद कर लिया है। छात्र का शव गडरिया महादेव इलाके में चट्टान और पेड़ के बीच अटका हुआ था। छात्र के शव को निकालने की कोशिश की जा रही है। छात्र रचित 9 दिन से जवाहर नगर इलाके से लापता था, जिसको ढूंढने के लिए कई ऑपरेशन भी चलाए गए। लापता हुए छात्र को ढूंढने के लिए 100 से ज्यादा जवानों को लगाया गया था और ड्रोन की भी सहायता ली गई थी। अब छात्र का शव बरामद किया गया है। 

छात्र के शव को निकालने में आ रही परेशानी
नगर निगम की रेस्क्यू टीम ने बताया कि जिस जगह कोचिंग छात्र रचित ने अपना सामान छोड़ा था, वहां से डेढ़ से दो किलोमीटर दूर एक चट्टान और पेड़ के बीच छात्र का शव अटका हुआ है। शव जहां है वहां पर जाना काफी मुश्किल हो रहा है। जानकारी में यह भी सामने आ रहा है कि ऊंचाई से गिरने से छात्र बीच में ही अटक गया। ऐसे में अब मौके पर एसडीआरएफ की टीम को भी बुलाया गया है। 

छात्र कर रहा था जेईई की तैयारी
पुलिस से मिली जानकारी में सामने है कि 11 फरवरी को छात्र हॉस्टल से टेस्ट देने की कहकर निकला था और वह अपना बैग भी साथ में लेकर गया था। छात्र रचित एमपी के राजगढ़ स्थित ब्यावरा का रहने वाला था जो एक साल से कोटा में रहकर जेईई की तैयारी कर रहा था। वहीं 12 फरवरी को उसका बैग, चप्पल सहित अन्य सामान गडरिया महादेव मंदिर के आसपास मिले थे। इसके साथ ही वहां पर लगे सीसीटीवी कैमरे में भी छात्र की तस्वीर कैद हुई थी। जिसके बाद से ही इस इलाके में लगातार सर्चिंग अभियान जारी था। टीम को सोमवार देर शाम को सफलता मिल गई है।

पिछले दिनों से छात्र के परिजनों का था कोटा में डेरा
छात्र रचित के लापता होने के बाद से ही उसको तलाशने के लिए पुलिस लगी हुई थी। वहीं दूसरी ओर छात्र के परिजन भी कोटा पहुंच चुके थे और अपने स्तर पर छात्र की तलाशी कर रहे थे। लेकिन छात्र का कोई सुराग नहीं लगा। इसके बाद परिजनों और रिश्तेदारों ने कोटा में ही डेरा डाल दिया और रविवार को जिला कलेक्टर डॉक्टर रविंद्र गोस्वामी के आवास के बाहर बैठ गए। वहीं जिला कलेक्टर से मिलने के बाद परिजनों और इस रिश्तेदारों ने सर्चिंग अभियान को तेज करने की मांग भी की थी।

 

इनपुट: योगेंद्र महावर

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें